Kuldeep Sengar सहित 25 पर सीबीआई ने दर्ज की एफआईआर

लखनऊ। उन्नाव दुष्कर्म कांड पीड़िता पर सियासत और सरकार के दांवपेंचों के साथ ही आज आरोपी Kuldeep Sengar व उसके भाई मनोज सहित 25 के खिलाफ सीबीआई लखनऊ की एंटी करप्शन ब्रांच ने हत्या, हत्या के प्रयास व आपराधिक साजिश की धाराओं में एफआईआर दर्ज की है।

गौरतलब है कि पीड़िता और उसके वकील का लखनऊ के ट्रॉमा सेंटर में इलाज चल रहा है। दोनों की हालत स्थिर मगर नाजुक बनी हुई है। वहीं, पीड़िता की चाची के अंतिम संस्कार के लिए रायबरेली जेल में बंद उसके चाचा को उन्नाव गंगा घाट कड़ी सुरक्षा के बीच रवाना कर दिया गया है। पीड़िता के चाचा अपनी पत्नी के अंतिम संस्कार में शामिल हुए हैं।

इसके अलावा दुष्कर्म कांड में घिरी यूपी सरकार व भाजपा ने विपक्ष को इस मुद्दे पर राजनीति न करने की सलाह दी है। इस बीच, केंद्र ने राज्य सरकार के आग्रह पर रायबरेली दुर्घटना की साजिश व हत्या का केस सीबीआई को सौंप दिया है। जिसका नोटिफिकेशन भी जारी कर दिया गया है।

उधर कांग्रेस सहित विपक्षी दलों ने लोकसभा में मंगलवार को मुद्दा उठाकर केंद्रीय गृहमंत्री से बयान की मांग की है। संसद के बाहर भी कांग्रेस, सपा व बसपा ने दुष्कर्म के आरोपी विधायक सेंगर को भाजपा से निस्कासित न करने पर सवाल उठाए। इस पर यूपी भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने सफाई देते हुए कहा कि विधायक सेंगर पार्टी से निलंबित हैं। स्वतंत्र देव ने कहा, पार्टी किसी आरोपी को बचाने के पक्ष में नहीं है। मेरी पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय से बात हुई है। उन्होंने सेंगर को पहले ही निलंबित किए जाने की जानकारी दी। पार्टी पीड़ित परिवार के साथ है।

रायबरेली के गुरुबख्शगंज थाने में दर्ज एफआईआर 305/2019 की विवेचना अब सीबीआई करेगी। इसके लिए प्रदेश सरकार ने सोमवार को केंद्र को सिफारिश भेजी थी।

गुरुबख्शगंज थाने में उन्नाव रेप कांड की पीड़िता के चाचा की ओर से विधायक कुलदीप सिंह सेेंगर समेत 10 लोगों के खिलाफ नामजद और 15-20 अन्य के खिलाफ आईपीसी की धारा 302, 307, 506 एवं 120 बी के तहत एफआईआर दर्ज की थी। सीबीआई इस मामले में सभी पहलुओं की जांच करेगी।
-एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *