CBDT ने चैरिटेबल ट्रस्ट प्रक्रियाओं के लिए अनुपालन तिथि बढ़ाई

नई दिल्ली। देश में फैले कोरोना महामारी के कारण बजट 2020 में CBDT ने आयकर अधिनियम, 1961 के कुछ प्रावधानों में संशोधन किया गया है, जो पंजीकृत चैरिटेबल ट्रस्टों और गैर-सरकारी संगठनों के कामकाज पर बहुत प्रभाव डालता है।

ये चैरिटेबल ट्रस्ट और एनजीओ मौजूदा पंजीकरण के नवीनीकरण, पंजीकरण की एक्सपायरी डेट निर्धारित करने, दान प्राप्तियों के विवरणों को दर्ज करने और अन्य औपचारिकताओं के बोझ तले दब गए हैं।

इस मौके पर एनजीओ Expert.com से जुड़े चार्टर्ड अकाउंटेंट उदित अग्रवाल ने कहा कि सीबीडीटी ने आयकर अधिनियम, 1961 के तहत चैरिटेबल ट्रस्ट व एनजीओ को अपने रीवैलीडेसन / रजिस्ट्रेशन / अधिसूचना के लिए नई प्रक्रिया के कार्यान्वयन को 1 जून, 2020 से 1 अक्टूबर, 2020 तक बढ़ा दिया गया है। सभी चैरिटेबल ट्रस्ट और रिलीजियस इंस्टिट्यूशन (एनजीओ सहित) जो 12 ए, धारा 12 एए, धारा 10 (23 सी), धारा 80 वर्गों के तहत पंजीकृत या अप्प्रोवड हैं उन्हें अब धारा 12AB के तहत नए पंजीकरण करवाना आवश्यक होगा।

चार्टर्ड अकाउंटेंट आशुतोष अग्रवाल ने बताया कि चैरिटेबल ट्रस्ट और छूट प्राप्त संस्थान जिनके पास पहले से ही धारा 12ए या धारा 80जी सर्टिफिकेट है उन्हें अब रजिस्ट्रेशन व अप्र्रोवल के लिए फिर से ऑनलाइन आवेदन करना होगा जो 5 वर्षों के लिए वैध रहेगा।

  • Legend News

 

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *