क्‍या “यही दिन” देखने के लिए “अपनी सरकारें” चुनते हैं ”हम भारत के लोग”?

कोरोना वायरस से उपजी महामारी पूरे देश में कहर बरपा रही है। प्रतिदिन इसकी चपेट में आने वाले लोगों का

Read more

एक कथावाचक मदारी, दो जमूरे कारोबारी और भगवान बद्री विशाल का स्‍वर्ण छत्र

एक युवा कथावाचक मदारी, उसकी डुगडुगी पर नाचने वाले दो जमूरे कारोबारी… और भगवान बद्री विशाल का स्‍वर्ण छत्र। ये

Read more

देश के हर प्रदेश में हैं परमबीर, देशमुख और वाझे जैसे लोग लेकिन जो पकड़े जाएं वो चोर… बाकी सब साहूकार

मुकेश अंबानी के ‘एंटीलिया’ से उठे तूफान ने इस समय समूचे महाराष्‍ट्र की कानून-व्‍यवस्‍था को अपनी चपेट में ले रखा

Read more

इस दौर में पत्रकार, मतलब कमजोर की ‘जोरू’

कभी पत्रकार भी होते होंगे बाहुबली, लेकिन इस दौर में पत्रकार होना…मतलब कमजोर की ‘जोरू’। बीती 11 तारीख को लाल

Read more

योगी जी…लेकिन वैध कॉलोनियों के अवैध निर्माणों पर कार्यवाही कब?

कल एक खबर पढ़ने को मिली। इस खबर के मुताबिक अवैध कॉलोनियों को वैध न कराने वालों के खिलाफ योगी

Read more

सुना है मुंगेरीलाल मर गए, लेकिन अपने हसीन सपने पालने को औलादें छोड़ गए

सुना है मुंगेरीलाल मर गए लेकिन अपने हसीन सपने पाले रखने के लिए औलादों का अच्‍छा-खासा जखीरा छोड़ गए। चूंकि

Read more

अपने प्रिय मित्र कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी के नाम एक खुला खत

कांग्रेस के राष्‍ट्रीय उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी और मेरा रिश्‍ता यूं तो ठीक वैसा ही है जैसा मेरा देश के दूसरे

Read more

चालाक सरकार व भोला विपक्ष: और… “सबसे भले वे मूढ़, जिन्हें न व्यापे जगत गति”

नए कृषि कानूनों को लेकर राष्‍ट्रीय और अंतर्राष्‍ट्रीय स्‍तर पर आंदोलनरत किसानों की ‘ये वैरायटी’ कितनी भोली है या कितनी

Read more

कृषि कानूनों पर कथित किसानों के आंदोलन की “कलंक कथा”

जिस प्रकार हर चमकने वाली चीज ‘सोना’ नहीं होती, ठीक उसी तरह न तो हर ग्रामीण ‘किसान’ होता है और

Read more

उत्तर प्रदेश में अधिकारियों के लिए अगर कहीं स्‍वर्ग है तो वह यहीं है… यहीं है… यहीं है

प्रशासनिक आधार पर 18 मंडलों वाले उत्तर प्रदेश में यूं तो 75 जिले हैं किंतु ऐसे जिलों की संख्‍या बहुत

Read more