सफलता की सीढ़‍ियां चढ़ने के चार नियम

मुझे एक कहानी याद आती है जो हम बचपन में सुना करते थे। तीन मित्र समुद्र के किनारे बने एक

Read more

शुल्ब सूत्र तथा श्रौत सूत्र के रचयिता थे भारत के प्राचीन गणितज्ञ ‘बौधायन’

अंतिम प्रभा का है हमारा विक्रमी संवत यहाँ, है किन्तु औरों का उदय इतना पुराना भी कहाँ ? ईसा, मुहम्मद

Read more

पितृसत्तात्मक समाज और औरतों का गर्भ

गर्डा लर्नर पितृसत्ता को परिभाषित करते हुए कहती हैं कि ‘पितृसत्ता, परिवार में महिलाओं और बच्चों पर पुरुषों के वर्चस्व

Read more

सफलता पाने के लिए जरूरी है भय, आशा और आत्मविश्वास का तालमेल

कहते हैं कि डर और आशा का मिश्रण बड़ा खतरनाक और कारगर होता है। यह बड़ा विरोधाभासी कथ्य है और

Read more

आयु के अनुकूल व्यापक यौनिक शिक्षा क्यों है ज़रूरी?

एशिया पैसिफ़िक क्षेत्र के लगभग एक अरब युवा १० से २४ वर्ष की आयुवर्ग के हैं, जो इस क्षेत्र की

Read more

युग पुरुष स्वामी विवेकानंद की पुण्यत‍िथ‍ि आज

युग पुरुष स्वामी विवेकानंद का जन्म जिस समय हुआ, उस समय भारत की सामाजिक,राजनैतिक एवं सांस्कृतिक परिस्थितियां विषमताओं व उथल-पुथल

Read more

शहीद गुरुतेज सिंह: शस्त्र के बिना शौय-प्रदर्शन कठिन है

15 जून की रात को चीनी और भारतीय सैनिकों के मध्य हुई हिंसक झड़प के संदर्भ में 23 वर्षीय भारतीय

Read more

खेल पत्रकारिता दिवस आज, खेल तंत्र को सर्वोत्कृष्ट बनाने में इसका अहम योगदान

हर जीव जन्म से ही उछल-कूद शुरू कर देता है। हम कह सकते हैं कि खेलना हर जीव का शगल

Read more

सांप-सीढ़ी के खेल में जीवन की सार्थकता

भारतवर्ष आध्यात्मिक लोगों का देश है। यहां संतों-मुनियों की लंबी परंपरा रही है। आज भी संतों, महंतों, डेरों, गुरुओं और

Read more

आपातकाल: 25-26 जून की वो दरम्यानी रात और मेरे बचपन की स्मृत‍ियां

25.‍06.1975 के दिन लोकतंत्र पर लगे दाग को ढोते हुए हमें 45 साल हो गये मगर मेरे बचपन की वो

Read more