कुंभ में फर्जी कोविड जांच का मामला, अभी कई अन्‍य लैब भी शक के दायरे में

कुंभ मेले के दौरान कथित फर्जी कोविड जांच का मामला सामने आने के बाद दो निजी लैब-नलवा लैबोरेटरीज प्राइवेट लिमिटेड, हिसार और डॉ लालचंदानी लैब के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया है। अब इस मामले में कुछ और दूसरे लैब का भी नाम सामने आ रहा है। कई ऐसे लोगों को कोविड रिपोर्ट मिली जिन्होंने टेस्ट भी नहीं करवाया है। अब इस पूरे मामले की जांच चल रही है।
चेन्नई निवासी रंजीत कुमार को गुरुग्राम के एक लैब से मोबाइल पर 5 मैसेज प्राप्त हुए। जो मैसेज भेजे गए थे उसमें नाम अलग था और सबकी कोविड रिपोर्ट निगेटिव थी। रंजीत कुमार ने बताया कि एक साथ कोविड के इतने मैसेज मिलने के बाद वह चौंक गए। रंजीत कुमार ने बताया कि मैसेज पर जो भी लिंक प्राप्त हुए उन पर क्लिक करने के बाद कोविड टेस्ट की रिपोर्ट निगेटिव थी।
जब मैसेज का सोर्स जानने की कोशिश की तो पता चला कि सभी सैंपल हरिद्वार से कलेक्ट किए गए हैं। आईटी कंपनी में काम करने की वजह से रंजीत को यह समझ में आ गया कि कहीं न कहीं कुछ गड़बड़ है। हरिद्वार के एक प्रोफेसर ने नाम न बताते हुए कहा कि उन्हें भी RT-PCR रिपोर्ट मिली जबकि उन्होंने कोई टेस्ट भी नहीं कराया था। दिल्ली से कुंभ कवर करने गईं एक पत्रकार जिन्होंने पहले ही टेस्ट कराया था उन्हें भी फोन पर मैसेज मिला। इसको लेकर उन्होंने हरिद्वार सीएमओ के पास शिकायत भी दर्ज कराई।
कुंभ मेले के दौरान कथित फर्जी कोविड जांचों को लेकर विपक्ष के निशाने पर आई उत्‍तराखंड सरकार ने आरोपी कंपनी मैक्स कॉरपोरेट सर्विस और दो प्राइवेट लैब्‍स के खिलाफ मुकद्दमा दर्ज करवा दिया है। पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने बताया कि हरिद्वार के मुख्य चिकित्साधिकारी शंभु कुमार झा की तरफ से मैक्स कॉरपोरेट सर्विस और दो निजी लैब-नलवा लैबोरेटरीज प्राइवेट लिमिटेड, हिसार और डॉ लालचंदानी लैब, मध्य दिल्ली के खिलाफ मुकद्दमा कराया गया है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *