श्वेता तिवारी के खिलाफ केस दर्ज: आजीवन कारावास तक की सजा संभव

मुंबई। टीवी एक्ट्रेस श्वेता तिवारी की निजी जिंदगी में परेशानी कम होती नजर नहीं आ रही हैं। सूत्रों के मुताबिक 1 मार्च को श्वेता के खिलाफ बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स (BKC) पुलिस स्टेशन ने धारा 467, 468, 417, 418, 463 और 465 के तहत एक FIR दर्ज की है। ये धाराएं जालसाजी के लिए हैं और इनमें से धारा 467 के तहत आजीवन कारावास (14 वर्ष) की सजा है।
हाईकोर्ट के आदेश के बाद दर्ज हुई FIR
करीबी सूत्र बताते हैं कि करीब 3 महीने पहले श्वेता एके पति अभिनव कोहली ने कोर्ट में याचिका दायर की थी। उनका आरोप था कि श्वेता उन्हें उनके 4 साल के बेटे रेयांश से मिलने नहीं दे रही है। इस याचिका में श्वेता पर धोखाधड़ी का आरोप भी लगाया गया और लिखा गया कि एक्ट्रेस ने अभिनव के फर्जी दस्तखत कर अपने बेटे रेयांश के लिए ब्रिटिश वीजा बनवाया था। बांद्रा कोर्ट मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट श्रीमती पीबी येरलेकर ने बीकेसी पुलिस स्टेशन को एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया था।
सूत्र आगे बताते हैं कि श्वेता रेयांश को अभिनव से दूर करने की पूरी कोशिश में लगी हुई हैं। वे अभिनव को बिना बताए रेयांश का UK वीजा बनवाना चाहती थीं ताकि उसे कुछ महीनों के लिए लंदन ले जा सकें। उस वक्त रेयांश की उम्र महज 3 साल थी इसलिए वीजा के कागजात पर पिता का NOC चाहिए था। श्वेता ने NOC पर अभिनव के फर्जी दस्तखत किए।
भनक लगते ही अभिनव ने ब्रिटिश वीजा डिपार्टमेंट को ईमेल के जरिए इसकी सूचना दी। हालांकि, तब तक वीजा बन चुका था। मुंबई के अधिकारियों ने जब इसकी जांच पड़ताल की तो श्वेता ने फर्जी दस्तखत की बात कबूल ली और दो दिन के अंदर रेयांश का वीजा रद्द हो गया।
जब अभिनव ने बताई थी फर्जी दस्तखत की बात
अक्टूबर 2020 में अभिनव कोहली ने फर्जी दस्तखत वाली बात कही थी। उन्होंने कहा था, “श्वेता ने मेरे फर्जी दस्तखत के जरिए रेयांश का UK का वीजा बनवाने की कोशिश की थी और मेरे पास इसके लीगल सबूत हैं। श्वेता के एक दोस्त ने मुझे उसके प्लान के बारे में बताया था और मुझे लग रहा था कि वह रेयांश को या तो अमेरिका या UK ले जाने की प्लानिंग में है। इन देशों के कानून के तहत बच्चे के वीजा पर दोनों पैरेंट्स के हस्ताक्षर होने चाहिए। मैंने किसी भी NOC पर दस्तखत नहीं किए थे। श्वेता ने मेरे फर्जी दस्तखत किए। खुशनसीब था कि मैंने 15 दिन पहले ही दोनों देशों को चिट्ठी लिखकर इस बारे में बता दिया था। वह किस हद तक जा सकती है, ये कोई भी अंदाजा नहीं लगा सकता।”
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *