चार भारतीय नागरिकों की मौत पर कनाडा के PM बोले, सख्त कार्रवाई होगी

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने शुक्रवार को चार भारतीय नागरिकों की मौत के बाद मानव तस्करी पर सख्त कार्रवाई की कसम खाई है। इन चार भारतीयों की कथित तौर पर कनाडा और अमेरिका के बीच सीमा पार करने की कोशिश करते हुए ठंड से जमकर मौत हो गई थी। इस मामले पर जस्टिन ट्रूडो ने कहा, “यह बिल्कुल हैरान कर देने वाली खबर थी। एक परिवार को इस तरह मरते देखना वाकई दुखद है। इससे भी ज्यादा बुरा है कि लोग उनकी मजबूरी का फायदा उठाकर मानव तस्करी को अंजाम दे रहे हैं।”
उन्होंने कहा, “यही कारण है कि हम लोगों को अनियमित या अवैध तरीके से सीमा पार करने से हतोत्साहित करने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं। हम जानते हैं कि ऐसा करने में बड़े जोखिम हैं।”
मानव तस्करी रोकने के लिए अमेरिका के साथ काम कर रहा कनाडा
ट्रूडो ने कहा कि कनाडा तस्करी रोकने और लोगों को “जोखिम से बचाने” में मदद करने के लिए अमेरिका के साथ मिलकर काम कर रहा है।” मैनिटोबा रॉयल कैनेडियन माउंटेड पुलिस (आरसीएमपी) ने गुरुवार को बताया कि एमर्सन के नजदीक कनाडा-अमेरिका सीमा पर कनाडा की ओर बुधवार को चार शव मिले, जिनमें दो शव वयस्कों के, एक किशोर का और एक शिशु का है। कनाडा का मैनिटोबा प्रांत मिनेसोटा में अमेरिकी सीमा से लगभग 10 किमी दूर है।
मामले की जांच में जुटा भारतीय दूतावास
टोरंटो में भारत के वाणिज्य दूतावास ने स्थानीय अधिकारियों और कानून प्रवर्तन के साथ समन्वय करने के लिए अधिकारियों की एक टीम मैनिटोबा में विन्निपेग भेजी है। कनाडा की पुलिस ने भी ओटावा में भारतीय अधिकारियों को जानकारी दी है। हालांकि, चार पीड़ितों की पहचान अभी तक तय नहीं हुई है और मैनिटोबा रॉयल कैनेडियन माउंटेड पुलिस (आरसीएमपी) ने अपनी जांच जारी रखी है, सोमवार को पोस्टमार्टम होने की संभावना है।
गुजरात का था पीड़ित परिवार?
कनाडा की सीमा पर मृत पाए गए दुखद चार लोगों से जुड़े सात अन्य भारतीय नागरिकों को अमेरिका में गिरफ्तार किया गया था, और मिनेसोटा के अमेरिकी जिला अदालत के समक्ष होमलैंड सिक्योरिटी एजेंट द्वारा दायर एक हलफनामे के अनुसार “सभी विदेशी नागरिक गुजराती बोलते थे”। इससे यह संभावना है कि पीड़ित भी गुजरात के थे, हालांकि पुलिस द्वारा इसकी पुष्टि की जानी बाकी है।
अमेरिका में पकड़े गए लोगों में से एक ने वहां एजेंटों को बताया कि उसने “धोखाधड़ी से प्राप्त छात्र वीजा के तहत भारत से कनाडा में प्रवेश करने के लिए भारी भरकम राशि का भुगतान किया”। फ्लोरिडा निवासी 47 वर्षीय एक व्यक्ति स्टीव शैंड को अमेरिकी अधिकारियों ने कथित रूप से “विदेशी नागरिकों की तस्करी” के आरोप में गिरफ्तार किया था। दो भारतीय नागरिक उसके साथ एक यात्री वैन में यात्रा करते हुए पाए गए थे जबकि पांच अन्य पास में घूमते हुए पाए गए।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *