चीनी उत्पादों के ख‍िलाफ कैट का नया अभियान, “हिन्दुस्तानी राखी”

मथुरा। चीनी सामान के बहिष्कार के अपने राष्ट्रीय अभियान “भारतीय सामान-हमारा अभिमान” के अंतर्गत कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ़ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने आज रमणरेती स्थित कार्ष्णि शरणानंद महाराज से अभियान की सफलता के लिये आशीर्वाद प्राप्त किया तथा उनसे भी अपने भक्तों द्वारा चीनी उत्पादों के पूर्ण बहिष्कार कराने का आग्रह किया।

कैट के इस आग्रह पर गुरु शरणानंद द्वारा सहर्ष स्वीकृति और आशीर्वाद प्रदान करते हुए कहा कि राष्ट्रहित में सभी देशवासियों का यह परम कर्तव्य है कि त्यौहारों को चीनी सामान से दूर रखें और पूर्ण शुद्धता के साथ त्यौहारों का आनंद उठाएं।

प्रतिनिधिमंडल में कैट के ब्रज प्रान्त संयोजक अमित जैन, व्यापारी नेता मदन मोहन श्रीवास्तव, संजय बंसल, विजय अग्रवाल बंटा, चौधरी विजय आर्य आदि प्रमुख रहे।

इस अवसर पर अमित जैन ने बताया क‍ि कैट ने इस वर्ष की राखी को देश भर में ” हिन्दुस्तानी राखी त्यौहार” के रूप में मनाने का निर्णय लिया है जिसके तहत इस बार चीन निर्मित राखी अथवा राखी से सम्बंधित कोई भी सामान उपयोग में नहीं लाया जाएगा। देश की सीमाओं की रक्षा कर रहे जाबांज सैनिकों का उत्साहवर्धन करने के लिए कैट की महिला विंग केंद्रीय रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह को सीमा पर तैनात सैनिकों के लिए 5000 राखियां देंगी।

उन्होंने बताया कि देशभर में रक्षाबंधन पर अनुमानत: लगभग 6 हजार करोड़ का राखियों का व्यापार होता है जिसमें अकेले चीन की हिस्सेदारी लगभग 4 हजार करोड़ होती है। चीन को व्यापारिक चपत लगाने के इस महा-अभियान में कैट की राष्ट्रीय इकाई द्वारा अपनी इस पहल को अंजाम देते हुए दिल्ली, नागपुर, भोपाल, ग्वालियर, सूरत, कानपुर, तिनसुकिया, रायपुर, भुवनेश्वर, कोल्हापुर, जम्मू आदि शहरों में राखियां बनवाने का काम शुरू कर दिया है।

दिल्ली में कैट 10 राखियों का एक सेट बनवा रहा है जिसमें राखियों के अलावा एक छोटी शीशी में रोली-चावल तथा मिठाई के रूप में एक छोटी थैली में मिश्री रखी जायेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *