ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ने भारत के लोगों को दी गणतंत्र दिवस की बधाई

देश आज 73वां गणतंत्र दिवस मना रहा है। 73वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर मौके पर ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जानसन ने भारत के लोगों को बधाई दी। उन्होंने यूके और भारत के संबंधों का जिक्र करते हुए कहा कि, दोनों देशों के संबंध दशकों से चले आ रहे हैं, दोनों ही मुल्कों ने पीढ़ी दर पीढ़ी बड़ी चुनौतियों का सामना किया है। मैं भारत के गणतंत्र दिवस के मौके पर यूके की ओर से भारत के लोगों और सभी ब्रिटिश भारतीयों को अपनी शुभकामनाएं देता हूं।
गणतंत्र दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री बोरिस जानसन ने भारत और यूके के बीच मुक्त व्यापार समझौते और ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका द्वारा कोरोना वैक्सीन के संयुक्त निर्माण को भी याद किया।
उन्होंने कहा कि पिछले कुछ वक्त से हमनें चुनौतियों का सामना किया है। दो विविध लोकतंत्रों के रूप में, मुझे हमारी मजबूत दोस्ती पर गर्व है। मैं हमारे रिश्तों को अगले 75 वर्षों और उससे आगे के लिए एक साथ समृद्ध होने के लिए और मजबूत करने के लिए तत्पर हूं।
दरअसल, बीते 13 जनवरी को वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने मुक्त व्यापार समझौते (एफटीए) पर ब्रिटेन की अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मंत्री ऐनी मेरी ट्रेवेलियन से वार्ता की थी। एफटीए से 2030 तक भारत और यूनाइटेड किंगडम के बीच द्विपक्षीय व्यापार को दोगुना करना है। जिसे दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों ने मई 2021 में निर्धारित किया था। इस समझौते का उद्देश्य निवेश को बढ़ावा देने के अलावा, वस्तुओं और सेवाओं में व्यापार को बढ़ावा देने के लिए मानदंडों को उदार बनाना और सीमा शुल्क को कम करना है।
भारत की ओर से 2020-21 में ब्रिटेन को निर्यात 8.15 अरब डॉलर रहा और ब्रिटेन से यहां पर आयात 4.95 अरब डॉलर रहा है। मई 2021 में एस्ट्राजेनेका ने 1 मिलियन अमरीकी डालर का वादा किया था। भारत में राहत गतिविधियों का समर्थन करने के लिए मानवीय सहायता के साथ-साथ दुनिया भर के अन्य समुदायों में महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं। इसमें भारत में उनके प्रयासों का समर्थन करने के लिए प्रत्यक्ष राहत के लिए 250,000 अमरीकी डालर का निवेश शामिल है, जिसमें आक्सीजन, दवाओं, अन्य आपूर्ति का वितरण शामिल है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *