यूपी सहित कई राज्यों में ब्रिटानिया करेगी 700 करोड़ का निवेश

नई द‍िल्ली। ब्रेड-बटर, बिस्किट जैसे रोजमर्रा के कंज्यूमर प्रोडक्ट बनाने वाली कंपनी ब्रिटानिया इंडस्ट्रीज ढाई साल में पांच नए प्लांट खोलने पर 700 करोड़ रुपए का निवेश करेगी। इनमें तीन फैसिलिटी बिहार, उत्तर प्रदेश और तमिलनाडु में होंगी। कंपनी के प्रबंध निदेशक वरुण बेरी ने कहा कि बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए ये फैसिलिटी देश के विभिन्न हिस्सों में खोली जाएगी।

बिहार, यूपी और तमिलनाडु में तीन नए प्लांट

अप्रैल-जून तिमाही में कंपनी की मांग में अच्छी वृद्धि दर्ज की गई। कंपनी का कहना है कि मांग पूरा करने के लिए उसे बिहार, उत्तर प्रदेश और तमिलनाडु में तीन नए प्लांट लगाने की जरूरत होगी। वाडिया समूह की कंपनी ने कहा कि इसके अलावा वह ओडिशा और महाराष्ट्र के मौजूदा फैसिलिटी की उत्पादन क्षमता बढ़ाने के लिए दो नई यूनिट्स और लगाएगी। यहां रोजगार के अवसर भी बनेंगे।

मांग में तेजी के चलते फैसला लिया है

बेरी ने कहा कि मौजूदा समय में हमारी मांग बहुत तेजी से बढ़ रही है। इसलिए हमें अपना प्रोडक्शन बढ़ाने पर निवेश करना होगा। जिन पांच यूनिट्स में निवेश करना है, उनकी पहचान कर ली गई है। उन्होंने कहा कि ये नए कारखाने अगले ढाई साल में तैयार होंगे और इस पर कंपनी कुल 700 करोड़ रुपए खर्च करेगी। इसमें से करीब 35 प्रतिशत पैसा का निवेश इसी साल किया जाएगा।

कंपनी को पहली तिमाही में 545.7 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ हुआ

देश की सबसे बड़ी बिस्किट बनाने वाली कंपनी ब्रिटानिया इंडस्ट्रीज ने पिछले सप्ताह बताया था कि तिमाही में 545.7 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ उसे हुआ है। एक साल पहले समान अवधि में हुए 251.03 करोड़ रुपए के लाभ की तुलना में यह 117 प्रतिशत ज्यादा है। लाभ में यह वृद्धि मजबूत रेवेन्यू और ऑपरेशनल ग्रोथ की वजह से हुई है।

रेवेन्यू 26.7 प्रतिशत बढ़कर 3,420 करोड़ रहा

कंपनी ने बताया कि चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही (अप्रैल-जून) के दौरान कंपनी का रेवेन्यू 3,420.67 करोड़ रुपए रहा है। एक साल पहले समान अवधि की तुलना में यह 26.7 प्रतिशत ज्यादा रहा है। कंपनी के एमडी वरुण बेरी ने कहा कि कोविड-19 की महामारी और अन्य अनिश्चितताओं के बावजूद हमने सप्लाई चेन के माध्यम से वेस्टेज और फिक्स कॉस्ट को कम करने में सफलता हासिल की।
– एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *