महामारी के खिलाफ अभियान में बोइंग ने भारत को दी 1 करोड़ डॉलर की सहायता

वॉशिंगटन। भारत इन दिनों वायरस की दूसरी लहर का कहर झेल रहा है। कोरोना मरीजों और कोविड से होने वाली मौतों की संख्या में लगातार बढ़ोत्तरी से स्वास्थ्य प्रणाली चरमरा गई है। अस्पतालों में बेड, वेंटिलेटर, रेमडेसिविर इंजेक्शन और ऑक्सीजन की भारी किल्लत हो गई है। इस बीच बोइंग (Boeing)  ने कोविड-19 महामारी के खिलाफ चल रहे अभियान में भारत की सहायता के लिए एक करोड़ अमेरिकी डॉलर यानी करीब 74.09 करोड़ रुपये की आपातकालीन सहायता देने की घोषणा की है। कंपनी ने बयान जारी कर कहा कि कोरोना महामारी ने दुनिया भर में तबाही मचा रखी है। इस वक्त भारत के लोग और वहां रहने वाले हमारे दोस्त बेहद मुश्किल वक्त से गुजर रहे हैं। वहां के लोगों से विशेष विशेष लगाव है, इस संकट के वक्त में हम उनके साथ खड़े हैं। कंपनी ने कहा कि बोइंग ओर से दी गई सहायता राशि से भारत में कोविड से जूझ रहे परिवारों के लिए चिकित्सा उपकरण और आपातकालीन राहत प्रदान की जाएगी।
जेपी मॉर्गन ने दी 20 लाख डॉलर की मदद
अमेरिकी निवेश बैंकिंग कंपनी जेपी मॉर्गन चेस ने शुक्रवार को भारत में कोविड-19 महामारी की रोकथाम के लिए 20 लाख अमेरिकी डॉलर की सहायता देने की घोषणा की और अपने कर्मचारियों से भी मदद देने की अपील की। न्यूयॉर्क स्थित जेपी मॉर्गन के वैश्विक स्तर पर 2.5 लाख से अधिक कर्मचारी हैं और इनमें से 35,000 से अधिक भारत में कार्यरत हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *