बिकरू कांड: रिमांड पर जय बाजपेई, काकादेव थाने में हुई घंटों तक पूछताछ

कानपुर। बिकरू कांड की जांच को आगे बढ़ाते हुए जय बाजपेई को कस्टडी र‍िमांड पर लेकर पुल‍िस ने तकरीबन 9 घंटे तक पूछताछ की ज‍िसमें जय बाजपेयी ने कुछ खुलासे क‍िए तो कई बार वह पुल‍िस पर झूठा फंसाने का आरोप लगाता रहा।

दहशतगर्द विकास दुबे को फरार कराने के लिए जय बाजपेई कार से रवाना हुआ था। शहर में जब पुलिसकर्मियों को देखा तो उसने अपनी व अन्य दो कारों को विजय नगर में खड़ा कर दिया और भाग निकला। जय को रिमांड पर लेने के बाद पुलिस ने ये दावा किया है।

जय के खिलाफ ये तथ्य साजिश में सीधे तौर पर शामिल होने की पुष्टि करता है। अब देखना है कि पुलिस ठोस सबूत कोर्ट में पेश कर पाती है या नहीं। बिकरू कांड के बाद जय की तीन कारें फॉर्च्यूनर, ऑडी और वेरेना विकास की मदद को रवाना हुई थीं। यही तीनों कारें विजयनगर में पुलिस को मिली थीं।

जय को रिमांड पर लाकर पूछताछ करने के बाद विवेचक मणिशंकर शुक्ला ने बताया कि ऑडी कार खुद जय चला रहा था। फॉर्च्यूनर उसका दोस्त राहुल सिंह, वेरेना एक ड्राइवर चला रहा था। सूत्रों के मुताबिक जय ने पुलिस की पूछताछ में इन आरोपों को खारिज किया है। वो खुद को निर्दोष बता रहा था। पुलिस पर फर्जी फंसाने का आरोप भी लगाया।

जयकांत बाजेपई से पुलिस ने बिकरू कांड के दौरान तीन लग्जरी कार बरामद की थी। जिसमें से एक पर सचिवालय का पास लगा था। पुलिस ने जब पास की जांच कराई तो वह फर्जी निकला। इस पर पुलिस ने जयकांत बाजपेई के खिलाफ धोखाधड़ी, फर्जी सरकारी दस्तावेज बनाना, उन दस्तावेजों का प्रयोग करना और षड्यंत्र रचने की धारा में एफआईआर दर्ज की थी। वहीं दूसरी ओर पुलिस ने बिकरू कांड में षड्यंत्र रचने के मामले में उसे जेल भेज दिया था।

सचिवालय के फर्जी पास के मामले में जय ने पुलिस को बताया कि करीब एक साल पहले वह राहुल सिंह के साथ लखनऊ गया था। जहां सचिवालय के पास एक विधायक की गाड़ी में लगे पास को अपने मोबाइल से स्कैन किया था। फिर कानपुर आकर एक दुकान से प्रिंट आउट निकाला था। पुलिस अब दुकानदार से भी पूछताछ करेगी, जिसने उसका प्रिंट आउट निकाल कर दिया था।

थाने पहुंचे जय के परिजन
जय के रिमांड की जानकारी पर उसकी पत्नी श्वेता व अन्य परिजन काकादेव थाने पहुंच गए। पुलिस पहले जय को थाने लाई और फिर नंबर प्लेट बरामद करने गई। वापस करीब तीन घंटे तक काकादेव थाने में ही पूछताछ की। परिवार वालों ने उससे मिलने के लिए भी कहा लेकिन पुलिसकर्मियों ने मिलने नहीं दिया। ढाई बजे जय को अस्पताल ले गई, फिर मेडिकल कराने के बाद कोर्ट में पेश किया। शाम चार बजे जेल में दाखिल किया।

कुर्की की तैयारी
जय का दोस्त राहुल सिंह भी मामले में आरोपी है। पुलिस उसके खिलाफ एनबीडब्ल्यू ले चुकी है। एसपी पश्चिम ने बताया कि अब राहुल के खिलाफ कुर्की की कार्रवाई के लिए जल्द कोर्ट में अर्जी दी जाएगी।

– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *