बिहार सरकार को CBI जांच की सिफारिश करने का कोई अधिकार नहीं: मानशिंदे

मुंबई। बिहार सरकार ने अब सुशांत सिंह राजपूत केस सीबीआई को सौंपने की सिफारिश कर दी है लेकिन रिया के वकील का कहना है कि कानूनी तौर पर बिहार सरकार सीबीआई की जांच की मांग कर ही नहीं सकती।
सुशांत सिंह राजपूत के केस में मुंबई पुलिस के बाद बिहार पुलिस के शामिल होने से लगातार ऐसी खबरें सामने आ रही हैं कि मुंबई पुलिस सहयोग नहीं कर रही। अब फाइनली बिहार सरकार ने मुंबई पुलिस के असहयोग को देखते हुए सीबीआई जांच की सिफारिश कर दी है। इस पर रिया चक्रवर्ती के वकील का कहना है कि बिहार सरकार की मांग कानूनन तौर पर गलत है।
इस मामले पर बात करते हुए रिया चक्रवर्ती के वकील सतीश मानशिंदे ने कहा, ‘रिया चक्रवर्ती ने जो सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है, उससे बिहार पुलिस का कोई संबंध नहीं है कि वे जांच करें। इस केस में बिहार के जांच करने का कोई कानूनी आधार ही नहीं है। ज्यादा से ज्यादा से ये हो सकता है कि आप जीरो क्राइम नंबर पर एफआईआर दर्ज करें और उसे मुंबई पुलिस को ट्रांसफर किया जाए। ट्रांसफर किया जाना कानूनी तरीका है, वरना इस तरह से जांच में हस्तक्षेप करके आप संघीय ढांचे के खिलाफ जा रहे हैं। यह हमारे संविधान के मूल में है जिसके कारण भारत राज्यों का संघ बना।’
बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के बाद से ही जांच पर सवाल उठाए जा रहे थे। जब बिहार पुलिस ने जांच शुरू की तो मुंबई पुलिस पर सहयोग न करने के आरोप लगे। अब जब बिहार सरकार कह चुकी है कि उसने सीबीआई जांच की सिफारिश कर दी है, तब रिया चक्रवर्ती के वकील का यह बयान सामने आया है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *