जम्मू-कश्मीर के उरी में सुरक्षाबलों को बड़ी सफलता, जिंदा पकड़ा पाक आतंकी

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के उरी सेक्टर में आतंकियों से मुठभेड़ में सुरक्षाबलों को बड़ी सफलता मिली है। मुठभेड़ के दौरान एक आतंकी मार गिराया गया जबकि दूसरे आतंकी को गिरफ्तार किया गया है। लश्कर ए तैयबा के आतंकी अली बाबर पात्रा ने सुरक्षाबलों के सामने सरेंडर किया है जो कि पाकिस्तान स्थित पंजाब के ओखारा से ताल्लुक रखता है।
मारे गए आतंकी की पहचान होनी बाकी है। सेना ने उरी ऑपरेशन में मिली सफलता के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस की। यहां 19 इंफैंट्री डिवीजन के जीओसी मेजर जनरल वीरेंद्र वत्स ने बताया कि ऑपरेशन के दौरान एक आतंकी मारा गया जबकि दूसरा गिरफ्तार हुआ है।
9 दिन लंबा चला ऑपरेशन
मेजर जनरल ने बताया, ‘यह ऑपरेशन उरी सेक्टर में एलओसी से लगे क्षेत्र में 9 दिन तक चलाया गया। यह ऑपरेशन 18 सितंबर को शुरू हुआ जब हमारे गश्ती दल ने एलओसी पर घुसपैठ की गतिविधि का पता लगाया था। जब एनकाउंटर हुआ तो 2 घुसपैठियों ने बॉर्डर के उस तरफ से प्रवेश किया था जबकि बाकी 4 घुसपैठिए दूसरी तरफ थे।’
25 सितंबर को आतंकी पकड़ा गया
मेजरल जनरल वीरेंद्र वत्स ने बताया, ‘गोलाबारी के बाद 4 आतंकी झाड़ियों का फायदा उठाकर पाकिस्तान की तरफ वापस चले गए जबकि 2 भारतीय सीमा ने घुसपैठ कर ली। इन्हें घेरने के लिए अतिरिक्त बल को तैनात किया गया। 25 सितंबर को एनकाउंटर के दौरान एक आतंकी मारा गया जबकि दूसरा पकड़ा गया। सरेंडर करने वाले आतंकी ने खुद को अली बाबर पात्रा बताया जो पाकिस्तान के पंजाब से है। उसने कबूल किया कि वह लश्कर से जुड़ा है और मुजफ्फराबाद में उनकी ट्रेनिंग हुई।’
आतंकियों के पास से मिला हथियारों का जखीरा
सेना ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि पिछले 7 दिन में 7 आतंकी मारे गए हैं जबकि एक आतंकी पकड़ा गया। मेजर जनरल ने बताया, ‘7 एके सीरीज के हथियार, 9 पिस्टल और रिवॉल्वर और 80 से अधिक ग्रेनेड जब्त किया गया। आतंकियों के पास से पाकिस्तानी करेंसी भी मिली।’
इससे पहले सुरक्षा बलों ने दो आतंकी सहयोगियों को गिरफ्तार किया है और कश्मीर में एक आतंकवादी ठिकाने का भंडाफोड़ किया है। श्रीनगर पुलिस ने पुलवामा पुलिस और सेना के 50 आरआर की सहायता से दक्षिण-कश्मीर के पुलवामा जिले से आतंकवादियों के दो ओवर ग्राउंड वर्कर्स (ओजीडब्ल्यू) को गिरफ्तार किया।
दो आतंकी सहयोगियों को गिरफ्तार किया गया
पुलिस ने कहा, ‘उनसे पूछताछ में पता चला कि आतंकी रियाज साथरगुंड (लश्कर-ए-तैयबा कमांडर) ने उन्हें श्रीनगर के नौहट्टा के राजौरी कदल इलाके में एक ठिकाना बनाने के लिए कहा था।’ इस सूचना पर सीआरपीएफ के साथ घेराव और तलाशी अभियान (सीएसीओ) शुरू किया गया और ठिकाने का पता चला। पुलिस ने कहा, ‘हालांकि यह खाली था और घर के मालिक से पूछताछ की जा रही है। आगे की जांच जारी है।’
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *