वाराणसी में बांटे जा रहे हैं ‘कमल’ छाप मोदी गमछे

वाराणसी। देश में कोरोना संकट के चलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी नहीं पहुंच पा रहे हैं। उन्होंने बीते गुरुवार को अपने संसदीय क्षेत्र का हालचाल फोन पर लिया और लोगों से गमछे बांटने की अपील की।
पीएम की अपील के बाद सोमवार को सड़कों पर लोगों को गमछे बांटे गए। खास बात यह है कि इन गमछों में ‘मोदी गमछा’ लिखा। इसके साथ ही भारतीय जनता पार्टी का चिन्ह ‘कमल’ भी बना है।
गुरुवार को उन्‍होंने फोन कर अपनी काशी का हालचाल लिया था। पीएम ने वाराणसी के विधायकों, जिलाध्‍यक्ष और महानगर अध्‍यक्ष से फोन पर लॉकडाउन स्थिति के बारे में जानकारी ली। इस दौरान उन्‍होंने कहा- ‘आप लोग मास्‍क पर पैसा मत खर्च कीजिए। अपने यहां यूपी में गमछा लगाते हैं ना, तो गमछा से मुंह बांधकर घर से बाहर निकलिए।’
फोन पर लिए थे वाराणसी के हाल
बीजेपी जिलाध्‍यक्ष हंसराज विश्‍वकर्मा ने पीएम को बताया कि वह लोगों के लिए मास्‍क बनवा रहे हैं। इस पर पीएम ने उनसे कहा कि मास्‍क बनवाने के चक्‍कर में क्‍यों पड़े हैं? बिना कारण खर्च करने की जरूरत नहीं है। मास्‍क डॉक्‍टर और स्‍वास्‍थ्‍य कर्मचारियों के लिए जरूरी है। अपने यहां (बनारस में) जो गमछा होता है उसी से मुंह बांधकर चल सकते हैं जो कि काशी की रग-रग में बसा है।
पीएम के यह कहने के बाद सोमवार को वाराणसी के कई इलाकों में गमछे बांटे गए। सफेद रंग के गमछों में केसरवानी समाज ने भगवा रंग से ‘मोदी गमछा’ छपवाया और लोगों में बांटा। इस गमछे में कमल का निशान भी बना है।
पीएम भी गमछे में आए थे नजर
आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हाल ही में जब लाइव हुए थे तो उन्होंने अपने चेहरे में मास्क की जगह सफेद रंग का गमछा लगा रखा था। उन्हें देखने के बाद कई लोगों ने मास्क की जगह नाक में गमछा लपेटना शुरू कर दिया है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *