BCCI अध्यक्ष गांगुली ने कहा, टीम में किसे चुनना है, यह मेरा काम नहीं

नई दिल्‍ली। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड BCCI के अध्यक्ष सौरभ गांगुली ने कहा कि किसी भी क्रिकेटर को टीम में चुनना या छोड़ना, उनका काम नहीं है बल्कि यह सिलेक्टर्स करते हैं। उन्होंने यह बात लोकेश राहुल से जुड़े एक सवाल के जवाब में कही।
लोकेश राहुल ने आईपीएल-13 में शानदार प्रदर्शन किया है। उनकी कप्तानी वाली टीम किंग्स इलेवन पंजाब भले ही प्लेऑफ से पहले लीग से बाहर हो गई लेकिन ऑरेंज कैप अब भी उनके पास ही है जो टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले क्रिकेटर को मिलती है।
गांगुली ने एक निजी चैनल के कार्यक्रम में कहा, ‘राहुल की तरह प्रतिभावान खिलाड़ी को टेस्ट में पैर जमाने के लिए उनके पास ‘बहुत वक्त’ है क्योंकि इस विकेटकीपर बल्लेबाज के पास अलग-अलग फॉर्मेट में मैच विजेता खिलाड़ी बनाने की क्षमता है। राहुल की कप्तानी से प्रभावित गांगुली का मानना है कि कर्नाटक का यह खिलाड़ी टेस्ट क्रिकेट के लिए बना है।
उन्होंने कहा, ‘मैं एक क्रिकेटर के तौर पर कह रहा हूं कि टेस्ट मैचों के लिए राहुल के लिए काफी समय है। टीम में हालांकि कौन रहेगा और कौन नहीं ,यह फैसला करना चयनकर्ताओं का काम है।’
आईपीएल में राहुल की ज्यादातर बड़ी पारियां किंग्स इलेवन पंजाब को जीत नहीं दिला सकीं लेकिन गांगुली ने उम्मीद जताई कि भारत के लिए उनके रन मैच विजेता साबित होंगे। इस पूर्व भारतीय कप्तान ने कहा, ‘किसी अनुभवी खिलाड़ी की तरह मेरा मानना है कि वह (राहुल) ऐसे खिलाड़ी हैं जो हर फॉर्मेट में योगदान दे सकते हैं। मैं उन्हें शुभकामनाएं देता हूं। उम्मीद है कि वह भारत को जीत दिलाने में अपना योगदान देगें, जो अहम है।’
गांगुली ने एक बार फिर दोहराया कि विराट कोहली की अगुआई वाली टीम को SENA (साउथ अफ्रीका, इंग्लैंड, न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया) देशों में अच्छा प्रदर्शन करना होगा। गांगुली ने कहा, ‘उन्हें (कोहली) यह समझना होगा कि भारत से बाहर अच्छा प्रदर्शन करना होगा। टीम ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज (2018-19) अपने नाम की थी लेकिन उन्हें साउथ अफ्रीका, इंग्लैंड (दोनों 2018) और न्यूजीलैंड (2020) में और बेहतर प्रदर्शन करना चाहिए था।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *