38 लाख गबन के आरोपी बैंक अधिकारी ने सट्टे में गंवा दिया 25 लाख

हमीरपुर। उत्तर प्रदेश के हमीरपुर स्‍थित पंजाब नेशनल बैंक PNB के असिस्टेंट मैनेजर को 38 लाख रुपये गबन के आरोप में सस्पेंड कर दिया गया है। इस पूरे मामले की विभागीय जांच भी शुरू हो गई है। गबन के आरोप में असिस्टेंट मैनेजर इन दिनों जेल में बंद है। असिस्टेंट मैनेजर को रिमांड पर लेकर पुलिस ने पूछताछ की तो कई चौंकाने वाले मामले सामने आए है। आरोपित असिस्टेंट मैनेजर ने बैंक का लाखों रुपए गबन करने के बाद 25 लाख सट्टे में गंवा दिया है और बाकी धनराशि अन्य कार्यों में खर्च होने की बात बताई है।
पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) हमीरपुर में कार्यरत असिस्टेंट मैनेजर मुहम्मद आमिर के खिलाफ ब्रांच मैनेजर नागेन्द्र सिंह ने सदर कोतवाली में मुकदमा कराकर आरोप लगाया था कि इसने यूजर आईडी के जरिये बैंक की 38 लाख रुपए की धनराशि अपने सैलरी वाले खाते में हस्तांतरित कर गबन किया है। इससे पहले साढ़े सात लाख रुपए असिस्टेंट मैनेजर ने सैलरी खाते में ट्रांसफर किए थे। इस मामले में कोतवाली पुलिस ने मुकदमा दर्ज करने के बाद आरोपित असिस्टेंट मैनेजर का सैलरी खाता सीज कर दिया गया था।
विभागीय जांच के आदेश जारी
वहीं असिस्टेंट मैनेजर को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेजा था। बाद में उसे रिमांड में लेकर कोतवाली में पूछताछ की गई। जिसमें चौंकाने वाले मामले सामने आए है। इधर पीएनबी के मैनेजर नागेन्द्र सिंह ने बताया कि गबन के मामले में असिस्टेंट मैनेजर मुहम्मद आमिर को सस्पेंड कर विभागीय जांच के आदेश हुए है। बताया कि पीएनबी के मंडलीय कार्यालय के अधिकारियों ने इस पूरे मामले की जांच भी शुरू कर दी है।
बैंक की लाखों रुपए की धनराशि असिस्टेंट मैनेजर ने सट्टे में गंवाई
हमीरपुर सदर कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक मनोज कुमार शुक्ला ने बताया कि आरोपित असिस्टेंट मैनेजर मुहम्मद आमिर से कोतवाली में पूछताछ की गई तो उसने कहा कि बैंक की 38 लाख रुपए की धनराशि में 25 लाख रुपए सट्टे में हार गया है और ये धनराशि सट्टे के कारोबारी के खाते में भेजी गई थी। उसे खाते के संचालन पर रोक लगा दी गई है। बताया कि गबन की बाकी की धनराशि घरेलू और अन्य कार्यों में खर्च करने की बात आरोपित ने स्वीकारी है। प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि रिमांड में लेकर उसके बयान नोट करने के बाद उसे वापस जेल भेजा जा चुका है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *