कश्‍मीर में हिमस्‍खलन: 48 घंटों में सेना के चार जवान शहीद

श्रीनगर। भारी बर्फबारी की मार झेल रहे उत्तरी कश्‍मीर में पिछले 48 घंटे कई हिमस्‍खलन में कुल 4 जवान शहीद हो गए हैं।
सैन्‍य सूत्रों बताया कि माछिल सेक्टर में सेना की एक चौकी पर हुए हिमस्खलन में तीन सैनिकों की जान चली गई जबकि एक लापता है।
उन्‍होंने बताया कि एक अन्य जवान को बचा लिया गया है। लापता जवान की तलाश के लिए राहत और बचाव अभियान जारी है।
उधर, नौगाम सेक्‍टर में बीएसएफ के 4 जवान बर्फीले तूफान की चपेट में आ गए जिसमें तीन को बचा लिया गया है जबकि एक शहीद हो गया है।
सेना के सूत्रों ने बताया कि माछिल सेक्‍टर में 3 जवान शहीद हुए हैं। बताया जा रहा है कि इलाके में बर्फीला तूफान आया था जिसमें ये जवान दब गए और उनकी मौत हो गई। इलाके से कई जवानों को बचाया गया है। लापता जवान की तलाश जारी है। बता दें कि कश्मीर घाटी में बीते कई दिनों से हो रही भारी बर्फबारी के बीच उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में एक बार फिर हिमस्खलन शुरू हो गए हैं।
बांदीपोरा जिले में भी हिमस्खलन
उत्तरी कश्मीर के बांदीपोरा जिले में भी सोमवार को हिमस्खलन की घटना हुई थी, जिसके कारण कुछ मकानों को नुकसान हुआ था। एवलॉन्च की घटना में फंसे 5 लोगों को सेना और प्रशासन की टीमों ने रेस्क्यू किया था। इससे पहले लेह में जांस्कर नदी पर बर्फ के ऊपर पानी बहने के बाद, चादर ट्रेक पर 41 ट्रेकर फंस गए थे जिन्‍हें बचा लिया गया था। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि ने भी खराब मौसम के कारण अगले दो दिनों के लिए चादर ट्रेक को अस्थायी रूप से बंद किए जाने की घोषणा की है।
लेह जिले के मैजिस्ट्रेट सचिन कुमार वैश्य ने कहा, ‘बर्फ के ऊपर पानी के बहाव के कारण ट्रेकर टिब और नेयार्क शिविरों के बीच फंस गए थे, जिन्हें बचा लिया गया है। उन्होंने कहा, ‘वे सभी सुरक्षित हैं और जिला प्रशासन द्वारा उनकी सुरक्षा और निकासी के लिए सभी आवश्यक इंतजाम किए गए हैं।’
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *