आशीष पांडेय की अंतिम लोकेशन मिली बस्‍ती, पुलिस रवाना

लखनऊ। दिल्ली के फाइव स्टार होटल में बंदूक निकालकर दंबगई दिखाने वाले यूपी के पूर्व सांसद के बेटे आशीष पांडेय को पकड़ने के लिए पुलिस और एसटीएफ का अभियान जारी है। आशीष पांडेय को ढूंढ निकालने के लिए यूपी पुलिस सभी संभावित जगहों पर छापेमारी कर रही है। टीवी रिपोर्ट्स के मुताबिक आशीष पांडे के पिता राकेश पांडेय पुलिस से मिले हैं। पुलिस आशीष को लेकर उनसे भी पूछताछ कर रही है।
एडीजी लॉ ऐंड ऑर्डर आनंद कुमार ने बताया, ‘आशीष पांडेय को पकड़ने के लिए उसके सभी संभावित लोकेशन पर छापेमारी की जा रही है। हम उसे ढूंढने का प्रयास कर रहे हैं। उसके नाम पर एक लाइसेंसी पिस्टल भी जारी की गई थी लेकिन हमें यह पुष्टि नहीं कर सकते कि इसी बंदूक का घटना के समय इस्तेमाल हुआ था।’
उधर दिल्ली पुलिस आरोपी आशीष पांडेय की तलाश में उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले के लिए निकल गई है। मंगलवार दोपहर एक बजे आशीष की आखिरी लोकेशन बस्ती में मिली है। इसके बाद नेपाल सीमा से सटे जिलों की पुलिस को अलर्ट कर दिया गया है। इससे पहले राजधानी में आशीष के दिलकुशा स्थित फ्लैट के साथ ही उसके विभवखंड-3 में बने ऑफिस में भी पुलिस ने भी छानबीन की।
दिल्ली पुलिस मंगलवार दोपहर अमौसी एयरपोर्ट पहुंची। वहां से सरोजनीनगर पुलिस दिल्ली पुलिस की टीम को आशीष के दिलकुशा स्थित संतुष्टि अपार्टमेंट के फ्लैट नम्बर-301 और 302 में ले गई। अपार्टमेंट और फ्लैट की घेराबंदी गौतमपल्ली पुलिस ने पहले ही कर ली थी। सूत्रों का कहना है कि मंगलवार सुबह नौ बजे तक आरोपी आशीष अपने फ्लैट में ही मौजूद था, लेकिन उसे जैसे ही दिल्ली पुलिस के आने की भनक लगी, वह गाड़ी लेकर निकल गया।
दिल्ली पुलिस ने फ्लैट में मौजूद नौकर से करीब एक घंटे 40 मिनट तक पूछताछ की। वहीं, क्राइम ब्रांच की एक टीम गोमतीनगर स्थित विभवखंड-3 में आशीष के ऑफिस पर डेरा डाले हुए थी। हालांकि वह वहां भी नहीं था। सूत्रों के मुताबिक कर्मचारी ने दिल्ली पुलिस की आशीष से बात भी करवाई।
राजनीति रसूख वाला है आशीष का परिवार
आशीष पांडेय उर्फ सुड्डू के पिता राकेश पांडेय जलालपुर से पहली बार एसपी से विधायक चुने गए थे। वे बीएसपी से अकबरपुर लोकसभा सीट से एमपी बने। उन्होंने अपने बड़े बेटे रितेश को राजनीति में उतारा। वह 2017 के विधानसभा चुनाव में जलालपुर सीट से बीएसपी से विधायक बना। आशीष व उनके परिवार का यूपी के कई जिलों में शराब, रियल एस्टेट व खनन का कारोबार है। आशीष के पास दो लाइसेंसी असलहे हैं, जिनमें एक पिस्टल और एक बंदूक है। सूर्या कांट्रेक्शन फर्म से ठेकेदारी करने वाले आशीष के चाचा पवन पांडेय व चाचा कृष्ण पांडेय का पुराना आपराधिक इतिहास रहा है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *