कीटो डायट लेने पर भी क्‍या आपका वेट लॉस नहीं हो रहा?

कीटो डायट को वजन कम करने का अच्छा तरीका माना जाता है। इस डायट को सिलेब्रिटीज तक फॉलो करते हैं। हालांकि, कीटो को फॉलो करने के दौरान अगर कुछ गलतियां की जाएं तो आपकी पूरी मेहनत बर्बाद हो सकती है। हम बता रहे हैं ऐसी ही 5 गलतियों के बारे में जो आपकी वेट लॉस की राह में रोड़ा बन सकती हैं।
पर्याप्त पानी नहीं पीना
कीटो डायट में शरीर फैट को बर्न करता है। जब यह प्रॉसेस शुरू होता है तो शरीर को फ्लूइड प्रोवाइड करवाना जरूरी हो जाता है। ऐसा नहीं होने पर मेटाबॉलिज्म स्लो हो जाता है और वेट घटने की जगह बढ़ने लगता है। अगर आप ऐसा नहीं चाहते तो दिन में कम से कम 8 ग्लास पानी जरूर पिएं।
ज्यादा डेरी प्रोडक्ट्स लेना
डेरी प्रोडक्ट्स लो कार्ब और हाई फैट का परफेक्ट सोर्स माने जाते हैं। हालांकि इससे बनने वाली चीज और पनीर जैसे प्रोडक्ट्स को ज्यादा खाने पर वेट बढ़ सकता है क्योंकि इनका डाइजेशन फास्ट नहीं होता है। साथ ही में स्वीट कर्ड जैसी चीजों में शक्कर मौजूद होती है जो वजन बढ़ने का कारण बन सकती है।
पर्याप्त फैट न लेना
कीटो डायट में सबसे अहम होता है हाई फैट फूड, लेकिन कई लोग इस डायट को फॉलो करने के दौरान भी ज्यादा फैट फूड को खाने से डरते हैं जो वेट लॉस के प्रॉसेस में रोड़ा बनता है। दरअसल, कार्ब इनटेक को लिमिट में करने पर फैट ज्यादा लेना जरूरी हो जाता है। ऐसा नहीं होने पर हॉर्मोन और मेटाबॉलिज्म फंक्शन बिगड़ सकता है जो शरीर के फूड को बर्न के प्रॉसेस को स्लो कर देगा और इससे वेट बढ़ाएगा।
डायट को फॉलो करने के दौरान हर समय स्नैक्स लेते रहना नुकसान करता है। आपकी मील्स के बीच के वक्त से बॉडी को खाने को बर्न करने में आसानी होती है, लेकिन ऐसा न हो तो शरीर में जितना फूड जाता है उतना बर्न नहीं हो पाता।
सात से आठ घंटे की नींद शरीर के लिए बेहद जरूरी होती है, यह न सिर्फ शरीर की क्रियाओं को सुचारू रूप से चलने में मदद करती है बल्कि खाने के बीच अच्छा खासा अंतर भी बनाती है। यह वेट लॉस में मदद करता है। नींद न होने पर यह स्थिति ठीक उलट हो जाती है और डायट का कोई फायदा नहीं रह जाता है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *