गौतम अडानी के विरोध की वजह से भी क्या कांग्रेस से खफा हैं गुजराती?

गुजरात में विधानसभा चुनाव होने वाला है। इससे पहले ही कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। दरअसल, गुजरात प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष हार्दिक पटेल ने पार्टी छोड़ दी है। उन्होंने इस्तीफा की घोषणा करने वाला जो ट्वीट किया है, उसमें गुजराती उद्योगपतियों का भी खूब पक्ष लिया है। हालांकि उन्होंने किसी का नाम नहीं लिया है, लेकिन पत्र की जो भाषा है, उससे लगता है कि वह गुजराती उद्योगपति गौतम अडानी के कांग्रेस विरोध से खफा हैं।
गुजरातियों के अपमान को बनाया मुद्दा
हार्दिक पटेल ने लिखा है- “युवाओं के बीच मैं जहां कहीं भी गया, सभी ने एक ही बात कही कि आप ऐसी पार्टी में क्यों हो, जो हर प्रकार से गुजरातियों का सिर्फ अपमान ही करती है। चाहे वह उद्योग का क्षेत्र हो, चाहे धार्मिक क्षेत्र में हो, चाहे राजनीति के क्षेत्र में हो।
उल्लेखनीय है कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी समेत लगभग सभी नेता गाहे बगाहे उद्योगपति गौतम अडानी की आलोचना करते रहते हैं।”
युवाओं के बहाने साधा निशाना
हार्दिक ने युवाओं के बहाने भी कांग्रेस पर निशाना साधा है। उन्होंने लिखा है “मुझे लगता है कि कांग्रेस पार्टी ने युवाओं का भी भरोसा तोड़ा है। जिसके कारण आज कोई भी युवा कांग्रेस के साथ दिखना भी नहीं चाहता।” उनका कहने का मतलब है कि कांग्रेस पार्टी में युवाओं का कोई भविष्य नहीं है। वहां उनका तिरस्कार हो रहा है।
गुजरात की जनता के मुद्द कमजोर हुए
हार्दिक पटेल ने लिखा है “आज गुजरात में हर कोई जानता है कि किस प्रकार कांग्रेस के बड़े नेताओं ने जान बूझ कर गुजरात की जनता के मुद्दे को कमजोर किया है। और इसके बदले में स्वयं बड़े आर्थिक फायदे उठाए हैं। राजनीतिक विचारधारा अलग हो सकती है, परंतु कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं का इस प्रकार से बिक जाना प्रदेश की जनता के साथ बहुत बड़ा धोखा है।”
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *