एंटीलिया केस: NIA ने घटना वाली जगह पर क्राइम सीन को रीक्रिएट किया

मुंबई। एंटीलिया केस की जांच कर रही NIA ने शुक्रवार देर रात घटना वाली जगह पर क्राइम सीन को रीक्रिएट किया। एनआईए इस केस में आरोपी और निलंबित पुलिस अधिकारी सचिन वझे को भी लेकर गई। सचिन वझे को लंबा कुर्ता पहनाकर उसी जगह पर ले जाया गया जहां पर विस्फोटक से लदी कार बरामद हुई थी। जांच के दौरान उद्योगपति मुकेश अंबानी के बंगले एंटीलिया के आसपास बैरिकेडिंग कर दी गई।
बता दें कि एंटीलिया केस में सामने आए सीसीटीवी फुटेज में एक शख्स पीपीई किट पहने दिखाई दिया था। एनआईए को संदेह है कि वह शख्स सचिन वझे ही थे। एनआईए ने सचिन वझे को सफेद कुर्ता पहनाकर चलवाया ताकि पीपीई किट जैसे कपड़े पहने दिखे शख्स से उनका मिलान किया जा सके। क्राइम सीन रीक्रिएशन के दौरान सचिन वझे के सिर पर रूमाल भी बांधा गया और उन्हें वैसे ही चलवाया गया जैसे सीसीटीवी में शख्स दिख रहा था।
डमी स्कॉर्पियो और इनोवा लाई गई
क्राइम सीन रीक्रिएशन के दौरान एक डमी स्कॉर्पियो और इनोवा कार भी लाई गई। आसपास के इलाके की बैरिकेडिंग कर दी गई और आम लोगों को वहां जाने से रोक दिया गया। फॉरेंसिक लैब की टीम भी वहां मौजूद रही। एंटीलिया केस में असिस्टेंट पुलिस इंस्पेक्टर सचिन वझे का नाम आने पर उन्हें सस्पेंड किया जा चुका है।
हिरेन और वझे के बीच 10 मिनट तक हुई थी मुलाकात
एंटीलिया केस में रोज नए खुलासे हो रहे हैं। जांचकर्ताओं ने अब दावा किया है कि सीसीटीवी फुटेज के अनुसार 17 फरवरी को सचिन वझे और हिरेन के बीच मुलाकात हुई थी। इसी दिन कारोबारी मनसुख हिरेन के पास से स्कॉर्पियो कार कथित रूप से चोरी हुई थी। 5 मार्च को ठाणे में एक नहर के पास हिरेन की लाश मिली थी। उनके परिवार ने उनकी मौत में वझे की भूमिका होने का आरोप लगाया था।
मर्सिडीज कार में बैठे दिखे हिरेन और वझे
बता दें कि जिलेटिन की छड़ों से लदी स्कॉर्पियो कार 25 फरवरी को उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के निकट खड़ी मिली थी जिसकी एनआईए कर रही है। एक अधिकारी ने बताया कि हिरेन की रहस्यमयी मौत से संबंधित मामले की जांच कर रहे एटीएस को दक्षिण मुंबई में छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस (सीएसएमटी) के निकट एक स्थान का सीसीटीवी फुटेज मिला है, जिसमें वझे और हिरेन मर्सिडीज कार में बैठे दिख रहे हैं।
एनआईए ने मर्सिडीज कार जब्त की
एनआईए ने वझे की गिरफ्तारी के बाद कथित रूप से उनकी वही मर्सिडीज कार जब्त कर ली थी। अधिकारी ने कहा कि सीसीटीवी फुटेज में दिख रहा है कि हिरेन और वझे करीब 10 मिनट तक कार में ही बैठे रहे। उन्होंने कहा कि हिरेन ने दावा किया था कि 17 फरवरी को जब वह ठाणे में अपने घर से दक्षिण मुंबई की ओर जा रहे थे तो स्कॉर्पियो का स्टीयरिंग जाम हो गया था इसलिए वह कार को मुलुंड-एरोली सड़क पर छोड़कर कैब से आगे चले गए थे।
कमिश्नर ऑफिस गए थे सचिन वझे
अगले दिन हिरेन एसयूवी लापता हो गई थी। जांच अधिकारी ने कहा कि सीसीटीवी फुटेज में वझे मर्सिडीज कार से पुलिस कमिश्नर के कार्यालय से निकलते दिखे हैं। कार जब छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस के बाहर रुकती है तो हिरेन उनकी ओर आते दिख रहे हैं। वह कार में बैठते हैं और दस मिनट बाद कार से निकल जाते हैं जबकि वझे कार चलाकर कमिश्नर के कार्यालय चले जाते हैं।
हिरेन ने वझे को सौंपी थी स्कॉर्पियो की चाबी
सूत्रों ने कहा कि एटीएस को संदेह है कि इस मुलाकात के दौरान ही हिरेन ने स्कॉर्पियो की चाबी वझे को सौंप दी थी। एनआईए ने अंबानी के घर के निकट एसयूवी खड़ी करने के मामले में कथित भूमिका के लिए 13 मार्च को वझे को गिरफ्तार कर लिया था। इस हफ्ते की शुरुआत में एनआईए ने कहा था कि उसने सीएसएमटी के नजदीक पार्किंग में खड़ी काले रंग की मर्सिडीज कार जब्त की है। इसमें से पांच लाख रुपये, नोट गिनने की मशीन और कुछ दस्तावेज बरामद किए गए हैं।
एनआईए के की नए पुलिस कमिश्नर से मुलाकात
इस बीच शुक्रवार को एनआईए के आईजी अनिल शुक्ला और अधीक्षक विक्रम खलाते ने मुंबई के नवनियुक्त पुलिस कमिश्नर हेमंत नागराले से मुलाकात की। एनआईए के अधिकारियों ने करीब 30 मिनट पुलिस आयुक्त कार्यालय में बिताया। नागराले के पदभार ग्रहण करने के बाद एनआईए के शीर्ष अधिकारियों की उनसे पहली मुलाकात थी।
वकील से अकेले मुलाकात करने की मांग रद्द
एनआईए ने मुंबई पुलिस की अपराध खुफिया शाखा के कई अधिकारियों से भी पूछताछ की है जहां पर वझे तैनात थे और अबतक दो मर्सिडीज सहित पांच वाहन जब्त किए हैं। एनआईए की अदालत ने शुक्रवार को वझे के वकील के उस अनुरोध को अस्वीकार कर दिया जिसमें उन्हें अपने क्लाइंट से एजेंसी की हिरासत में रहने के बावजूद अकेले में मुलाकात करने की अनुमति मांगी थी। वझे 25 मार्च तक एनआईए की हिरासत में हैं।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *