गृह मंत्री का ऐलान: जितना चाहे जोर लगा लो, CAA वापस नहीं होने वाला

लखनऊ। नागरिकता संसोधन कानून CAA के समर्थन में यहां रैली करने आए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने ऐलान किया कि
‘मैं आज डंके की चोट पर बताने आया हूं कि जिसको विरोध करना है करे, CAA वापस नहीं होने वाला है।’
उन्होंने कहा, ‘मैं वोट बैंक के लोभी नेताओं को कहना चाहता हूं, आप इनके कैंप में जाइए, कल तक जो सौ-सौ हेक्टेयर के मालिक थे, वे आज एक छोटी सी झोपड़ी में परिवार के साथ भीख मांगकर गुजारा कर रहे हैं।’
नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के समर्थन में मंगलवार को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में एक जनसभा की।
यहां पर उन्होंने अपने भाषण की शुरुआत ‘भारत माता की जय’ के नारों से करते हुए समाजवादी पार्टी (एसपी), कांग्रेस, बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी), तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) को नागरिकता कानून को लेकर हो रही हिंसा का जिम्मेदार ठहराया।
अमित शाह ने कहा, ‘नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ प्रचार किया जा रहा है कि इसकी वजह से इस देश के मुसलमानों की नागरिकता चली जाएगी।
ममता दीदी, राहुल बाबा, अखिलेश यादव चर्चा करने के लिए सार्वजनिक मंच तलाश लो, हमारा स्वतंत्र देव चर्चा करने के लिए तैयार है। सीएए की कोई भी धारा, मुसलमान छोड़ दीजिए, अल्पसंख्यक छोड़ दीजिए, किसी भी व्यक्ति की नागरिकता नहीं छीन सकती। अगर छीन सकती हो तो वह मुझे दिखा दो।’
अमित शाह ने कहा, ‘नेहरू जी ने कहा था कि केंद्रीय राहत कोष का उपयोग शरणार्थियों को राहत देने के लिए करना चाहिए। इनको नागरिकता देने के लिए जो करना चाहिए वह करना चाहिए, लेकिन कांग्रेस ने कुछ नहीं किया।’
जेएनयू के मुद्दे पर भी बोले शाह
उन्होंने कहा, ‘दो साल पहले जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) के अंदर देश विरोधी नारे लगे। मैं जनता से पूछने आया हूं कि जो भारत माता के एक हजार टुकड़े करने की बात करें, उसको जेल में डालना चाहिए या नहीं। मोदी जी ने उनको जेल में डाला और ये राहुल एंड कंपनी कह रही है कि यह बोलने की स्वतंत्रता का अधिकार है।’
‘गांधी जयंती के दिन हुए बलात्कार’
अमित शाह ने कहा, ‘पाकिस्तान, बांग्लादेश, अफगानिस्तान…जहां भारत के विभाजन के बाद करोड़ों हिंदू वहां रह गए, सिख वहां रह गए, ईसाई, जैन, बौध, पारसी वहां रह गए। मैंने उनके दर्द को सुना है। महात्मा गांधी की जयंती के दिन एक हजार माताओं-बहनों से बलात्कार किया जाता है, उनको जबरन निकाह पढ़ाया जाता है। हजारों की संख्या में मंदिर-गुरुद्वारे तोड़े जाते हैं। अफगानिस्तान के अंदर आसमान को छूने वाली मूर्ति को तोप के गोले से जीर्ण-शीर्ण कर दिया जाता है।’
‘कांग्रेस की वजह से देश के दो टुकड़े हुए’
केंद्रीय मंत्री अमित शाह ने कहा, ‘कांग्रेस के पाप के कारण धर्म के आधार पर भारत के दो टुकड़े हुए। पाकिस्तान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश में अल्पसंख्यकों की संख्या कम होती रही। आखिर कहां गए ये लोग। कुछ लोग मार दिए गए, कुछ का जबरन धर्म परिवर्तन किया गया। तब से शरणार्थियों के आने का सिलसिला चल रहा है। नरेंद्र मोदी ने वर्षों से प्रताड़ित लोगों को उनके जीवन का नया अध्याय शुरू करने का मौका दिया है।’
एसपी-बीएसपी-कांग्रेस, टीएमसी पर वार
गृहमंत्री ने कहा, ‘देश में भ्रम फैलाया जा रहा है, दंगे कराए जा रहे हैं, आगजनी कराई जा रही है, यह धरना प्रदर्शन, यह विरोध, यह भ्रांति एसपी-बीएसपी, कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस फैला रही है। इसमें किसी की नागरिकता छीनने का कोई प्रावधान नहीं है। इस बिल के अंदर नागरिकता देने का प्रावधान है।’
अयोध्या के राम मंदिर पर भी बोले शाह
अयोध्या में राम मंदिर को लेकर अमित शाह ने कहा, ‘कांग्रेस जब तक सत्ता में थी, तब तक अयोध्या में प्रभु श्रीराम का मंदिर नहीं बनने दिया। कोर्ट में कपिल सिब्बल खड़े होकर केस में अड़ंगा लगाते थे। मोदी सरकार बनने के बाद सुप्रीम कोर्ट में केस तेजी से चला और अब अयोध्या में आसमान छूने वाला श्रीराम का मंदिर बनने वाला है।’
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *