अमेरिका ने खोली पोल, Pakistan में आतंकियों की भर्ती जारी

वॉशिंगटन। Pakistan के आतंकवाद से निपटने के दावों की अमेरिका ने पोल खोलते हुए कहा है कि वहां अब भी आतंकियों की भर्ती हो रही है और वे फंडिंग जुटा रहे हैं। अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने आतंकवाद पर अपनी सालाना रिपोर्ट में यह बात कही है।
रिपोर्ट में कहा गया है कि Pakistan लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद जैसे आतंकी संगठनों पर रोक लगाने में असफल रहा है। ये संगठन लगातार आतंकियों की भर्ती कर रहे हैं और फंड भी जुटा रहे हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि कई ऐसे संगठन भी हैं, जो विदेशी धरती पर हमले की साजिशें रचते हैं।
Pakistan की नीयत पर सवाल उठाते हुए अमेरिकी रिपोर्ट में कहा गया है वह लगातार अफगान सरकार और तालिबान के बीच वार्ता को समर्थन की बात करता है, लेकिन अब भी अपने देश में हक्कानी नेटवर्क जैसे खूंखार आतंकी संगठन को पनपने दे रहा है।
अमेरिका ने कहा कि यह संगठन अमेरिका और अफगान सरकार के लिए खतरा बनकर उभरा है।
अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने कहा, ‘Pakistan सरकार लश्कर और जैश जैसे खूंखार आतंकी संगठनों पर लगाम कसने में नाकाम रही है। ये संगठन Pakistan में आतंकियों की भर्ती कर रहे हैं, ट्रेनिंग दे रहे हैं। यही नहीं, लश्कर से जुड़े कुछ लोगों को Pakistan में जुलाई के आम चुनावों में उतरने का मौका भी दिया गया था।’
गौरतलब है कि हाफिज सईद के समर्थन वाले 265 उम्मीदवार भी Pakistan में आम चुनाव में उतरे थे। रिपोर्ट में Pakistan को लताड़ते हुए कहा गया, ‘पाकिस्तान ने अपने नेशनल एक्शन प्लान में कहा गया है कि किसी सशस्त्र समूह को देश में काम नहीं करने दिया जाएगा। इसके बाद भी कई आतंकी संगठन वहां सक्रिय हैं और दूसरे देशों पर हमलों की साजिशें रचते हैं। इनमें हक्कानी नेटवर्क, लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद जैसे खूंखार आतंकी समूह शामिल हैं।’
गौरतलब है कि सितंबर में अमेरिका में दौरे में में पीएम नरेंद्र मोदी ने ‘हाउडी मोदी’ इवेंट में अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप की मौजूदगी में पाकिस्तान को आतंकवाद का जनक बताया था।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *