अमेरिका: जो बाइडेन के शपथग्रहण के वक्त बड़े हमले की आशंका

वॉशिंगटन। अमेरिका की संसद इमारत में कैपिटल 20 जनवरी को समारोह से पहले हिंसा की आशंका को देखते हुए नेशनल गार्ड को तैनात कर दिया गया है।
करीब एक हफ्ते पहले अमेरिकी संसद में हुई हिंसा के बाद अब 20 जनवरी को नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन का शपथग्रहण समारोह कड़ी सुरक्षा के बीच होगा। नैशनल गार्ड को सतर्क किया गया है कि समारोह के दौरान एक बार फिर कैपिटल पर हमला हो सकता है और इस बार IED जैसे विस्फोटकों का हमला हथियारबंद प्रदर्शनकारी कर सकते हैं। यह डर उस वक्त पुख्ता हो गया था जब कैपिटल पर हमले के दौरान पाइप बम बरामद किए गए थे। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों ने 6 जनवरी को संसद की इमारत पर चढ़ाई कर दी थी जिसके बाद हिंसा में 5 लोगों की मौत हो गई थी।
पहले से ज्यादा चौकन्ने होंगे जवान
बाइडेन के शपथग्रहण के दौरान वॉशिंगटन में 20 हजार नेशनल गार्ड सैनिकों को उतारने की तैयारी की गई है। पहले ही डीसी में 6,200 सैनिक तैनात हैं और शनिवार तक 10 हजार और तैनात कर दिए जाएंगे। पहले सैनिकों को सिर्फ सुरक्षा उपकरण ले जाने की इजाजत थी लेकिन अब उनके पास हैंडगन और राइफलें भी होंगी। तनावपूर्ण हालात के बीच कैपिटल की इमारत के अंदर से नैशनल गार्ड की तस्वीरें सामने आई हैं जिसमें सैकड़ों सैनिक अपने सामान के साथ ही ठंडी फर्श पर सोते दिख रहे हैं। इन तस्वीरों के सामने आने के बाद लोगों ने घटनाक्रम को शर्मनाक बताया है।
कैपिटल पर 3 हमलों का प्लान
नेशनल गार्ड के सैनिकों के अलावा दूसरे अधिकारियों और आठ फुट ऊंचे स्टील के घेरे बनाने का फैसला किया गया है। FBI ने पहले ही चेतावनी दी है कि वॉशिंगटन और सभी 50 राज्यों की राजधानियों में 20 जनवरी तक हमले हो सकते हैं जबकि अकेले कैपिटल में 3 हमलों का प्लान है। सिक्योरिटी एक्सपर्ट्स के मुताबिक कट्टरवादी और ट्रंप समर्थक सोशल मीडिया पर डीसी में हिंसा की धमकी दे रहे हैं और पिछले कुछ वक्त में ऐसे मामले बढ़े हैं।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *