आगरा में अखिलेश को दोबारा चुना गया National President, सपा का राष्ट्रीय सम्मेलन सम्पन्न

आगरा। अखिलेश यादव आज दोबारा निर्विरोध समाजवादी पार्टी के National President चुने गये। ताजनगरी आगरा में चल रहे सपा के दसवें राष्ट्रीय अधिवेशन के दौरान उन्हें पार्टी का अध्यक्ष चुना गया। वह लगातार दूसरी बार दल के अध्यक्ष चुने गए हैं। निर्वाचन अधिकारी एवं सपा के वरिष्ठ नेता रामगोपाल यादव ने अखिलेश के निर्विरोध निर्वाचन की औपचारिक घोषणा की। इस घोषणा के दौरान सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव और उनके छोटे भाई व अखिलेश के प्रतिद्वंद्वी चाचा शिवपाल यादव मौजूद नहीं थे।

इससे पहले गत एक जनवरी, 2017 को लखनऊ में हुए राष्ट्रीय अधिवेशन में अखिलेश को मुलायम सिंह यादव के स्थान पर सपा का अध्यक्ष बनाया गया था। अखिलेश का कार्यकाल पांच वर्ष का होगा। उनके दोबारा अध्यक्ष बनने के साथ ही यह तय हो गया है कि वर्ष 2019 का लोकसभा चुनाव और 2022 का उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव उन्हीं के नेतृत्व में लड़ा जाएगा।

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आज पार्टी कार्यकर्ताओं से भाजपा के ‘पहाड़ जैसे झूठ’ का पर्दाफाश करके वर्ष 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में पार्टी को बड़ी ताकत के साथ आगे लाने का आह्वान किया।

सपा के 10वें राष्ट्रीय अधिवेशन में अखिलेश को लगातार दूसरी बार निर्विरोध अध्यक्ष चुना गया है। आज निर्वाचन की घोषणा होने के बाद अपने पहले संबोधन में सपा अध्यक्ष ने कहा, ‘‘आज देश के जो हालात हैं, वह किसी से छुपे नहीं हैं। आज ना केवल उत्तर प्रदेश बल्कि पूरे देश का किसान संकट में है। भाजपा के लोगों ने प्रदेश के पिछले विधानसभा चुनाव में कर्जमाफी का वादा किया था, लेकिन जो कर्ज माफ होना चाहिये, वह नहीं हुआ।’’ उन्होंने कहा कि जिस तरीके से जीएसटी की व्यवस्था बनायी गयी है, उससे बड़े पैमाने पर उद्योग और व्यापारी संकट में आ गये हैं। नोटबंदी से जो व्यापार रुका था वह जीएसटी के कारण बंद हो गया। इन दोनों ने मिलकर नौजवानों का रोजगार छीन लिया है।

अखिलेश ने कहा, ‘‘हम समाजवादी लोगों को संकल्प लेना होगा कि हम उनके पहाड़ जैसे झूठ का पर्दाफाश करेंगे।’’ उन्होंने कहा कि भाजपा जितनी बड़ी पार्टी बनकर उभरी है, उसका झूठ भी उतने ही बड़े पहाड़ जैसा है।

उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में सपा उत्तर प्रदेश और अपनी मौजूदगी वाले अन्य राज्यों में बड़ी ताकत से लोकसभा में पहुंचे। ‘‘हमें संकल्प करना होगा कि सपा और उसकी साइकिल और तेजी से आगे बढ़ती जाए।’’ अखिलेश ने इस मौके पर अपने पिता व सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव को याद करते हुए कहा कि उनकी मुलायम से कई बार फोन पर बात हुई और उनसे आशीर्वाद भी मिला।

उन्होंने कहा, ‘‘हमने नेताजी (मुलायम) से भी कहा था कि आज सम्मेलन होने जा रहा है, अगर आप आएंगे तो हम सभी को बहुत अच्छा लगेगा। मैंने उनसे कल भी बात की। सम्मेलन में आने से पहले भी बात की और कहा कि सम्मेलन बहुत बड़ा होगा लेकिन अगर आपका आशीर्वाद नहीं होगा तो पार्टी आगे नहीं बढ़ेगी। इस पर नेताजी ने हम सबको फोन पर आशीर्वाद दिया है।’’ मालूम हो कि सपा के इस अधिवेशन में मुलायम ने शिरकत नहीं की है।

अखिलेश ने राष्ट्रीय अधिवेशन में देश के विभिन्न राज्यों से आये 15 हजार से ज्यादा प्रतिनिधियों को धन्यवाद देते हुए कहा कि पूर्व में जब भी आगरा में सपा का अधिवेशन या कार्यकारिणी बैठक हुई है, पार्टी और मजबूत हुई है। इस कार्यक्रम के माध्यम से उम्मीद है कि आने वाले समय में सपा और मजबूत दिखेगी।
-एजेंसी