Agusta Westland घोटाला: सीबीआई को अब ‘हड्डी’ पाने वाले भारतीय ‘कुत्ते’ की तलाश

नई दिल्‍ली। Agusta Westland घोटाले मामले में जांच एजेंसियों के हाथों में एक नोट लगा है। कहा जा रहा है कि यह नोट इस डील के बिचौलिए क्रिश्चन मिशेल ने लिखा था। इसमें मिशेल ने किसी के लिए कुत्ता और हड्डी का जिक्र किया है। अब जांच एजेंसी सीबीआई को ‘हड्डी’ पाने वाले ‘कुत्ते’ की तलाश है।
सूत्रों का कहना वीवीआई हेलिकॉप्टर डील में बिचौलिए क्रिश्चन मिशेल और उसके साथी गाइडो हैश्के समेत अन्य लोगों की बातचीत के बीच कुत्ते और हड्डी का जिक्र आया है। जांच एजेंसी Agusta Westland के वरिष्ठ अधिकारी (लियोनार्डो), मिशेल, हैश्के और कार्लो गेरोसा के बीच 8 फरवरी 2008 को हुई बातचीत को डिकोड करने में जुटी है।
इसमें ये सभी वीवीआईपी चॉपर डील में सीवीसी, डिफेंस सेक्रटरी, जॉइंट सेक्रटरी (एयर), एयरफोर्ट मेंटेनेंस कमांड और हेलिकॉप्टरों के लिए उड़ान मूल्यांकन टीम को बोर्ड पर लाने के बारे में बात कर रहे हैं। जांच एजेंसी को एक नोट मिला है जिसे कथित तौर पर मिशेल ने लिखा है। इस नोट की शुरुआत डील डिस्कस करने के लिए आयोजित की गई एक लन्च पार्टी के जिक्र से होती है।
इस नोट में मिशेल कथित तौर पर जीएच (गुइडो हैश्के) को ‘कल के लन्च’ के लिए शुक्रिया कहते हुए उम्मीद जता रहा है कि ‘कुत्ते को हड्डी पसंद आई होगी।’
CBI और ईडी को आशंका है कि इस नोट में भारत के उस शख्स के बारे में बातचीत हो रही है जो इस कॉन्ट्रैक्ट के साथ डील कर रहा है। शायद उसी के लिए कोड या अशिष्ट भाषा में कुत्ता शब्द का इस्तेमाल किया गया है।
हैश्के पर आरोप है कि उसने Agusta Westland के लिए त्यागी बंधुओं (पूर्व एयरफोर्स चीफ एसपी त्यागी के भाई) के जरिये लॉबिइंग की थी। वहीं मिशेल पर भारत में 25 बार लॉबी करने का आरोप है। एजेंसियों के मुताबिक मिशेल स्वतंत्र रूप से राजनेताओं, अफसर और डिफेंस पर्सनलों के संपर्क में था।
सूत्रों ने बताया कि नोट के मुताबिक मिशेल को इस बात की जानकारी दी थी कि फ्लाइट का मूल्यांकन करने वाली टीम अमेरिका के सिकोर्स्की S-92 हेलिकॉप्टर्स और Agusta Westland AW-101 के लिए भेजी गई थी और 14 फरवरी को दिल्ली लौटने वाली थी। मिशेल ने नोट में लिखा है कि अगले दो महीने काफी कठिन होंगे और उनके लिए यह अंतिम मौका होगा।
नोट में इस बात का भी जिक्र है कि सेंट्रल विजिलेंस कमिशन चीफ अगस्ता की बिड के पक्ष में तैयार होंगे। हाथ से लिखे गए इस नोट पर इटली कोर्ट ने अपने फैसले में 8.4 मिलियन यूरो की रिश्वतखोरी में सीवीसी समेत अन्य का जिक्र किया है। मिशेल द्वारा कथित तौर पर लिखे गए इस नोट में कहा गया है कि अगर हम मजबूत केस पेश करें और सरकार का सहयोग हो तो सभी मेजर कॉन्ट्रैक्ट्स की नीतियां बनाने वाले सीवीसी हमें स्वीकार करेंगे।
मिशेल ने इस नोट में आगे लिखा है कि एयरफोर्स की मेंटेनेंस कमांड हमारे साथ टेक्निकल और मेंटेनेंस इशू पर काम करने के लिए तैयार है, जबकि डिफेंस सेक्रटरी और जॉइंट सेक्रटरी (एयर) को बोर्ड पर लाना होगा। मिशेल ने यह भी लिखा है कि फ्लाइट मूल्यांकन टीम ने पीटर हुलेट (तब अगुस्टा गवर्नमेंट सेल्स के रीजन हेड) से कहा था कि कॉन्ट्रैक्ट जीतने के लिए बस सवालों के सही और समय पर जवाब देने की जरूरत है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *