चुनाव नतीजों के बाद सुशील मोदी बोले, नीतीश कुमार ही होंगे सीएम

पटना। चुनाव नतीजों के बाद बिहार के डेप्युटी सीएम सुशील मोदी पहली बार मीडिया के सामने आए हैं। उन्होंने एनडीए की जीत के लिए बिहार की जनता को धन्यवाद दिया है। साथ ही कहा है कि बिहार के लोगों को आरजेडी पर भरोसा नहीं है। आरजेडी जिताने चाहे अपने माता-पिता को छिपा ले, लेकिन बिहार की जनता उनके शासनकाल को नहीं भूल सकती है। चुनाव के वक्त ही उनके परिवार के लोग बिल से बाहर निकल कर आए हैं। नीतीश को फिर से सीएम बनने के सवाल पर भी सुशील मोदी ने जवाब दिया है।
सुशील मोदी ने कहा है कि एनडीए के सीएम फिर से नीतीश कुमार ही होंगे। उन्होंने साफ कर दिया है कि नीतीश कुमार के नाम पर कोई कंफ्यूजन नहीं है। हमारे नेताओं ने पहले ही ऐलान कर दिया है। नीतीश कुमार की फिर से ताजपोशी होगी। उनके नाम पर ही हम लोग चुनाव लड़े हैं। इस जीत में जीतनराम मांझी और मुकेश सहनी की भी उतनी ही बड़ी भूमिका है, जितनी बीजेपी और जेडीयू की है।
वहीं, बागियों के चुनाव लड़ने पर सुशील मोदी ने कहा कि अगर वह एलजेपी से नहीं लड़ते तो किसी दूसरे दल से जाकर लड़ते। हर चुनाव में ऐसे लोग तैयार हो जाते हैं। बीजेपी और जेडीयू में कोई कंफ्यूजन नहीं है। उन्होंने कहा कि बिहार के लोगों ने विकास कार्यों पर वोट किया है। रोजगार झूठे झांसे में लोग नहीं आए हैं। माले और ओवैसी को बिहार में आरजेडी ने फिर से जिंदा कर दिया है।
सुशील मोदी ने आरजेडी पर हमला करते हुए कहा कि हमारे 15 साल के शासनकाल में बिहार एक भी नरसंहार नहीं हुआ है। 2005 से पहले वाले दिन को याद कर बिहार के लोग आज भी सिहर जाते हैं। वहीं, सुशील मोदी से पूछा गया कि क्या इस बार नीतीश कुमार सरकार चलाने में सहज महसूस करेंगे। इस पर सुशील मोदी ने कहा कि नीतीश कुमार पर हमारी पार्टी को कोई दबाव नहीं रहता है। वह पहले की तरह ही सरकार चलाएंगे।
सीएम पद पर दावेदारी
गौरतलब है कि बिहार बीजेपी के अंदर से यह आवाज उठ रही है कि सीएम हमारी पार्टी से कोई हो। केंद्रीय राज्यमंत्री अश्विनी चौबे ने भी इस बात के संकेत दिए हैं। वहीं, बीजेपी के कई नेता इस जीत का श्रेय पीएम मोदी को दे रहे हैं। नतीजों के बाद मंगलवार की रात एनडीए नेताओं ने सीएम नीतीश कुमार से मुलाकात भी की थी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *