एडीजी प्रशांत कुमार ने मीडिया को बताया, कानपुर केस में अब तक क्‍या कार्यवाही हुई

लखनऊ। कानपुर शूटआउट मामले में उत्तर प्रदेश के एडीजी प्रशांत कुमार ने आज अब तक हुई कार्यवाही के बारे में मीडिया को बताया। उन्होंने कहा कि जल्द ही विकास दुबे पकड़ में आ जाएगा। उन्होंने कहा कि पुलिस इस मामले में ऐसी कार्यवाही करेगी जो पूरे देश के लिए नजीर बनेगा। पुलिस वालों की शहादत बेकार नहीं जाने देंगे।
गौरतलब है कि कानपुर के बिकरू गांव में हुई घटना में मुख्य आरोपी विकास दुबे पांच दिन बाद भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है।
एडीजी प्रशांत कुमार ने कहा कि 2-3 जुलाई की मध्य रात्रि जब पुलिस दबिश देने गई थी तब विकास दुबे और उसके साथियों ने पुलिस टीम पर हमला किया। घटना के बाद विकास दुबे बिकरू गांव से भाग निकला।
घटना में वांछित और 50 हजार के इनामी बदमाश अमर दुबे उर्फ संदीप दुबे को हमीरपुर के थाना मौदाहा के अंतर्गत एक मुठभेड़ के दौरान मार गिराया गया है। स्थानीय पुलिस और एसटीएफ ने उसे मारा है। उसके पास से अवैध पिस्टल और कारतूस बरामद हुए हैं। इसकी विकास दुबे के साथ कई तस्वीरें भी हैं। एक अन्य अपराधी श्यामू बाजपेई भी पकड़ा गया है। श्यामू के ऊपर भी 50000 का इनाम घोषित था।
श्यामू बाजपेई समेत तीन गिरफ्त में
एडीजी ने बताया कि इस मामले में संजीव दुबे और जहान यादव नाम के दो अन्य आरोपियों को भी पकड़ा गया है। संजीव दुबे नामजद नहीं है लेकिन उसका नाम आया है इसलिए पुलिस ने उसे पकड़ा है। एडीजी ने बताया कि कानपुर शूटआउट में एक AK-47 और एक वेपन को बरामद किया जाना है। दो वेपन उसी दिन पुलिस ने बरामद कर लिया था।
फरीदाबाद में तीन गिरफ्तार
फरीदाबाद हरियाणा में मुठभेड़ के दौरान पुलिस ने तीन लोगों को पकड़ा है। बिकरू गांव के कार्तिकेय उर्फ प्रभात, काकूपुर गांव के अंकुर उर्फ श्रवण कुमार, न्यू इंदिरा नगर के बाल प्रताप अंकुर के पिता श्रवण को गिरफ्तार किया गया है। इनके पास से 2003 की जुलाई की एक घटना में पुलिस की लूटी हुई 9MM की दो सरकारी पिस्टल मिली है। दो अन्य पिस्टल और 44 जिंदा कारतूस मिले हैं।
विकास को रोल मॉडल मानता था अमर दुबे, बिकरू में ‘किले’ के सामने रहकर बिताया था बचपन
शहादत नहीं जाने देंगे व्यर्थ
चौबेपुर के सभी पुलिस वालों को हटा दिया गया है। आगे की कार्यवही की जा रही है। उन्होंने बताया कि गौतमबुद्ध नगर में एक्सप्रेसवे थाने में एक एनकाउंटर और बुलंदशहर के सियाना में भी इनामी बदमाशों को गिरफ्तार किया गया है। कानपुर की घटना में शामिल हर एक आरोपी के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। शहादत बेकार नहीं होने देंगे।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *