Varanasi में मोरारी बापू की 800 वीं रामकथा कल से 21 से 29 अक्टू तक

Varanasi में भक्ति,संगीत व् कला के महाकुम्भ में  होंगे सांस्कृतिक आयोजन ,

संत कृपा सनातन संस्थान की ओर से मोरारी बापू की 800 वीं रामकथा 21 से,

वाराणसी। शिव व शक्ति की धरा धर्म नगरी Varanasi में 21 से 29 अक्टूबर तक नौ दिन बड़े ही अदभुत अनुपम होंगे। उत्तरवाहिनी माँ गंगा की गोद में बसे काशी नगर के मणिकर्णिका घाट के सामने गंगा पार सतुआ बाबा जी की गौशाला में सन्त कृपा सनातन संस्थान द्वारा राष्ट्रीय संत मोरारी बापू की राम कथा का आयोजन होगा ।

बाबा विश्वनाथ की नगरी Varanasi में होने वाली मोरारी बापू की 800 वीं राम कथा में ख्यातनाम कलाकारों द्वारा सांस्कृतिक प्रस्तुतियां और इस बीच प्रसिद्ध राष्ट्रीय संत मोरारी बापू के प्रवचन सोने में सुगंध का काम करेंगे।

नौ दिन धार्मिक सांस्कृतिक प्रस्तुतियों की धूम रहेगी और इसके साक्षी बापू के हजारों भक्त बनेंगे। आस्था, संस्कृति, संगीत व् कला का यह उत्सव पूर्वांचल में अपनी अलग ही छाप छोेडेगा ।

कार्यक्रम के मुख्य आयोजनकर्ता मदन पालीवाल ने बताया कि वाराणसी में बापू की यह कथा आस्था, संस्कृति, संगीत का एक ऐसा स्वाद है जिसे इस उत्सव में आकर ही महसूस किया जा सकता है। वे इस आयोजन को अपने गुरू के प्रति आदरांजलि की संज्ञा देते है। उनका कहना है कि बापू की हर कथा के हर शब्द में एक सन्देश निहित होता है जो आमजन को सत्मार्ग की की ओर प्रेरित करता है।

Varanasi में बापू की 800 वीं कथा
राष्ट्रीय सन्त मोरारी बापू की Varanasi में यह 800 वी कथा आयोजित होगी । इसे लेकर पूर्वांचल की जनता खासी उत्साहित हैं क्षेत्र के सभी धार्मिक संगठन कार्यक्रम को सफलतम बनाने केे लिए कई दिनों से लगे हुए है। मोरारी बापू की रामकथा 21 अक्टूबर को सांय 4 बजे से और 22 से 29 अक्टूबर तक प्रातः 9.30 बजे से प्रारम्भ होगी कथा का आयोजन गंगा पार रामनगर के डोमरी गावं में सतुआ बाबा की गौशाला में होगा । कथा स्थल पर तैयारियाॅ जोर शोर से जारी हैं । कार्यक्रम की भव्यता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि पिछले कई एक महीने से कथा स्थल और मंच का निर्माणकार्य अनवरत जारी है।

मंच व्यासपीठ की अद्भुत छठा
कथा स्थल पर 60 गुणा 40 फ़ीट के मंच की व्यासपीठ पर बापू बिराजेंगे मंच के पीछे मणिकर्णिका घाट पर जलती चिताओं को उकेरा जायेगा जिससे आभास होगा की बापू शमसान में मानस मसान कथा सुना रहे हो, इसके साथ ही उतर वाहिनी माँ गंगा की बहती निर्मल धारा के बीच काशी विश्वनाथ के मंदिर को चित्रित किया जायेगा, व्यासपीठ पर हनुमान जी और शिवलिंग की छवि भी स्थापित होगी l

निःशुल्क होगा भोजन प्रसाद
बापू की कथा में आने वाले हजारों भक्तों के लिये प्रतिदिन सन्त कृपा सनातन संस्थान की ओर से निःशुल्क भोजन प्रसाद व पानी की व्यवस्था की जायेगी । निःशुल्क आवास(100 किमी से अधिक दूरी वालों के लिए ) व्यवस्था होगी।

राष्ट्रीय स्तर पर होगा प्रसारण
मोरारी बापू की वाराणसी में आयोजित कथा का विश्व भर के 170 देशों में आस्था चैनल के माध्यम से लाइव प्रसारण होगा बापू के करोड़ों भक्त घर बैठे इस कथा का आनंद उठा सकेंगे

सांस्कृतिक कार्यक्रमों की मचेगी धूम
मोरारी बापू की रामकथा के दौरान शाम को सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित होंगे उसमें अभिनेता मकरंद देशपांडे ,पुनीत इस्सर सहित कई फिल्म अभिनेता अपनी कला का अभिनय करेंगे ,इसके साथ ही राष्ट्रीय स्तर का कविसम्मेलन आयोजित होगा,जिसमें कई राष्ट्रीय स्टार के कवि गण भाग लेंगे l

जर्मन तकनीक के पाण्डाल का निर्माण
संत कृपा सनातन संस्था की ओर से आयोजित कथा के लिए 80 हजार स्क्वायर फीट का भव्य पाण्डाल का निर्माण किया गया है l जर्मन तकनीक से बनाये गए पंडाल में सपिंगलर्स लगवाये गए है जिससे श्रोताओं को कथा श्रवण के दौरान गर्मी का आभास नही होगा इसके साथ ही 8 सौ सोफे और 10 हजार कुर्सियां भी पाण्डाल में लगवाई जाएगी

बझड़े में रहेंगे बापू
रामकथा के नौ दिवसीय आयोजन के दौरान मोरारी बापू गंगा किनारे बजड़े में रहेंगे, इसके लिए एक विशेष बजड़े का निर्माण किया गया है, इसमें भूतल पर 3 कमरे व् हाल की सुविधा है, प्रथम तल पर बापू की कुटिया और हवन कुंड का निर्माण किया गया है।

गत कई महीनों से बझड़े को बनाने में श्रीलंका और तमिनलाडु के कई कारीगर लगे हुए थे।

एक हजार ट्यूब लाइट्स और मरकरी लगेगी
कथा स्थल पर भव्य रोशनी की व्यवस्था की गई है पण्डाल में तथा कथा स्थल पर 1 हजार से ज्यादा लाइट्स और मरकरी लगाई गई है जिससे वाराणसी रोशनी से जगमगाता रहे

निःशुल्क परिवहन सुविधा
रामकथा के दौरान श्रोताओं की सुविधा के लिए जलमार्ग में गंगा किनारे घाटों से निःशुल्क नावों का संचालन किया जायेगा जिससे अधिक से अधिक श्रोता जलमार्ग से आकर कथा का श्रवण कर सकें।

जगमग होगा डोमरी
रामकथा के दौरान पूरा डोमरी क़स्बा दुल्हन सा सजेगा रंग बिरंगी रौशनी से कस्बे को सजाया जायेगा जगह जगह बापू के स्वागत के लिए स्वागत द्वार लगाए जायेंगे

देश विदेश से आएंगे भक्त
राष्ट्रीय संत मोरारी बापू की 800 वी कथा को श्रवण करने देश और विदेश से हजारों भक्त गण वाराणसी पहुचेंगे और बापू के आशीर्वचन का लाभ लेंगे

सुरक्षा की मकबूल व्यव्यस्था
कथा स्थल पर सुरक्षा की दृष्टि से मकबूल व्यव्यस्था की गई है। सैंकड़ो पुलिस प्रशासन के जवानों के साथ ही 500 से अधिक निजी सुरक्षाकर्मी भी कथा स्थल पर तैनात होंगे। साथ ही पुलिस की और से अस्थाई पुलिस चौकी भी स्थापित की जायेगी।

कैमरे की निगाह में कथा स्थल
कथा स्थल,भोजन शाला, पार्किंग सहित संपूर्ण परिसर में 500 से अधिक सी सी टी वी कैमरे लगवाये गये है। जिससे संपूर्ण परिसर पर नजर रखी जा सके।

Varanasi रामकथा के दौरान मोरारी बापू से आशीर्वाद लेने के कई अतिविशिष्ठ और विशिष्ठ मेहमान यहां  पहुचेंगे।