8 बार एवरेस्ट चढ़ चुके पेंबा शेरपा बर्फीली दरारों बीच गुम

नई दिल्ली। दार्जलिंग के पेंबा शेरपा (पेंबा जी) 13 जुलाई की सुबह 8 बजे वापस लौटते हुए लद्दाख में ससेरकांगड़ी 3 में, बर्फीली दरारों बीच गुम हो गए थे. वह 8 बार माउंट एवरेस्ट की चढ़ाई कर चुके हैं और वह माउंट मकालू मनासुलु कंचनजंघा अन्नापुरम और कई अन्य पहाड़ों की चढ़ाई सफलतापूर्वक पूरी कर चुके हैं. वह पिछले काफी समय से बंगाल माउंटेनियरिंग से जुड़े रहे हैं. उनके साथ कई पर्वतारोहियों ने पहाड़ों की चढ़ाई की है. इनमें देबाशीष बिस्वास भी शामिल हैं. आईटीबीपी का बचाव दल शेरपाओ के साथ मिलकर बेसकैंप से अपने अभियान की शुरुआत कर चुका है. हालांकि, इस बात की उम्मीद बहुत कम है कि यदि पेंबा शेरपा मिल भी गए तो वह जीवित मिलेंगे क्योंकि चढ़ाई पर ऑक्सीजन की मात्रा बहुत कम होती है.
8 बार एवरेस्ट की चढ़ाई कर चुके हैं पेंबा
र्जिलिंग के पेंबा शेरपा 8 बार एवरेस्ट की चढ़ाई पूरी कर चुके हैं. इस बार वह वापस लौटते समय बर्फीले दर्रों के बीच गिर पड़े, जहां से उन्हें निकालना संभव नहीं था. उनके बचने की उम्मीद बहुत कम है. जब उनकी पत्नी से संपर्क किया गया तो उन्होंने बताया कि वह 19 जून को 4 अन्य व्यक्तियों के साथ यह कहकर गए थे कि वह मनाली जा रहे हैं और जल्द ही वापस लौट आएंगे और आज सुबह उनके भाई ने मुझे बताया कि वह पहाड़ से लौटते समय मिसिंग हैं.
बड़े भाई ने दी पेंबा के मिसिंग होने की खबर
पत्नी ने कहा कि, उनके बड़े भाई का फोन कल रात 10.30 के करीब आया था लेकिन उनके मिसिंग होने की खबर उन्होंने सुबह दी. उन्होंने कहा, पेंबा ने मुझे अंतिम कॉल 29 जून को तब किया था, जब वह चोटी पर जा रहे थे. उनके साथ मुंबई के एक व्यक्ति ने मुझे बताया था कि अब वे ऊपर की तरफ जा रहे हैं और वहां फोन काम नहीं करेगा इसलिए जब हम वापस आएंगे तभी बात होगी. आज उनके बारे में मिसिंग होने की सूचना मिल रही है.
बेटी को यकीन- वापस लौटेंगे पापा
जब पेंबा की बेटी से बात की गई तो उन्होंने बताया कि उनके पिता ने 19 जून को घर छोड़ा था, उस वक्त वह स्कूल में थी. जाने से पहले पिता ने कहा था कि वह जल्द ही वापस लौट आएंगे. मैं नियमित रूप से स्कूल जाती रहूं और पढ़ाई पर ध्यान दूं. 29 जून को पापा ने मम्मी से बात की थी.
पेंबा शेरपा के घर पर प्रार्थनाएं शुरू हो गई हैं. उनके परिजन उनके घर पहुंच रहे हैं. पेंबा की 87 वर्षीय मां अपने बेटे के लिए रो रही हैं. शेरपा अपने पीछे बूढ़ी मां, पत्नी, दो बेटियों और एक बेटे को छोड़ गए हैं. सभी बच्चे पढ़ाई कर रहे हैं. सबसे बड़ी बेटी की उम्र 18 वर्ष है. पेंबा शेरपा की उम्र 47 वर्ष है. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस बीच शेरपा की पत्नी को नौकरी देने की बात कही है.
-एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *