इंदौर में मेडिकल टीम पर हमले के 7 आरोपी गिरफ्तार

इंदौर। मध्य प्रदेश के इंदौर में कोरोना संदिग्ध की जांच के लिए गई मेडिकल टीम पर हमले के आरोप में पुलिस ने 7 लोगों को गिरफ्तार किया है। मेडिकल कर्मचारियों के हमले के बाद पुलिस ने हमला करने वाले लोगों की तलाश शुरू कर दी थी। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार वायरल वीडियो में शामिल लोगों की पहचान की गई और फिर उनकी गिरफ्तारी की गई है। बिहार समेत कई राज्यों में मेडिकल टीम और पुलिसकर्मियों पर हो चुका है हमला।
दरअसल, बुधवार को इंदौर में एक महिला की जांच करने पहुंचे स्वास्थ विभाग की टीम पर लोगों ने पथराव कर दिया। इंदौर के ताटपट्टी भक्खल में हेल्थ वर्कर कोरोना वायरस के फैलाव को देखते हुए एक शख्स की जांच करने गए थे लेकिन स्थानीय लोगों ने उल्टे ही उन पर पथराव कर दिया। इस मामले में एक एफआईआर भी दर्ज की गई थी। स्थानीय लोगों का कहना था कि यहां कोई भी कोरोना पीड़ित नहीं है।
महिला डॉक्टर ने बताया क्या हुआ था
टीम की एक महिला डॉक्टर ने बताया था कि हेल्थ विभाग ने उन्हें स्क्रीनिंग के लिए वहां भेजा था। उन्होंने बताया कि हम लोग तीन दिन से वहां रोज जा रहे थे। हम वहां लोगों की स्क्रीनिंग कर रहे हैं, मरीज को देख रहे थे। हमें एक व्यक्ति के कोरोना कॉन्टैक्ट की हिस्ट्री मिली थी तो हम वहां गए थे। हम लोगों ने जैसे ही पूछना शुरू किया उनलोगों ने पत्थर फेंकना शुरू कर दिया। उन्होंने बताया कि तीन डॉक्टर एएनएम और आशा कार्यकर्ता भी गए थे। साथ में तहसीलदार भी गए थे। पुलिस थी इसलिए हमलोग बचकर आ गए।
जमात की खोज करने गए पुलिस पर मधुबनी में हमला
दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात में कई लोगों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद भी कई मस्जिदों में इसी तरह के जमात की खबरें आ रही हैं। ऐसी ही एक सूचना के आधार पर मंगलवार की देर रात मधुबनी पुलिस तहकीकात करने पहुंची थी लेकिन मस्जिद में मौजूद लोगों ने पुलिस पर ना सिर्फ पथराव किया बल्कि फायरिंग भी कर दी। तबलीगी जमात समर्थकों के हमले के बाद बीडीओ और थानेदार वहां से जान बचाकर भाग निकले थे। लेकिन हिंसा पर उतारू हमलावरों ने प्रशासन की एक गाड़ी में तोड़फोड़ कर उसे तालाब में गिरा दिया। पुलिस ने मामले में कार्यवाही करते हुए 15 लोगों के खिलाफ नामजद FIR करते हुए 4 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।
संदिग्ध की जांच करने गए मेडिकल टीम पर मुंगेर में हमला
बुधवार को मुंगेर में संदिग्‍ध मरीजों की जांच के लिए पहुंची मेडिकल टीम पर हमला हो गया। यहां एक बच्‍ची की मौत के बाद टीम उसके परिवार को होम क्‍वारंटीन में रखने और जांच के लिए गई थी। हंगामा होने के बाद जब पुलिस बुलाई गई थी तो उसकी गाड़ी पर भी स्‍थानीय लोगों ने पथराव किया। बिहार में कोरोना वायरस की जांच को लेकर पत्‍थरबाजी के कई मामले हो चुके हैं।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *