2023 में 40 साल बाद IOC मेंबर्स मीटिंग होस्ट करेगा भारत

नई दिल्‍ली। तीन साल बाद यानी 2023 में भारत इंटरनेशनल ओलंपिक कमेटी IOC मेंबर्स मीटिंग की मेजबानी करेगा। यह आयोजन मुंबई के रिलायंस जियो वर्ल्ड सेंटर में होगा। खास बात ये है कि 1983 के बाद यह पहला मौका होगा जब भारत IOC मेंबर्स मीटिंग होस्ट करने की जिम्मेदारी दी गई। 37 साल पहले नई दिल्ली में यह मीटिंग हुई थी।
IOC प्रेसीडेंट थॉमस बैश ने यह जानकारी दी। थॉमस के मुताबिक भारत को इसलिए चुना गया क्योंकि यह दुनिया का दूसरा सबसे ज्यादा आबादी वाला देश है। भारत की इकॉनमी भी दुनिया में छठवें नंबर पर है
IOC टीम ने अक्टूबर मे किया था दौरा
IOC की एक टीम अक्टूबर में भारत आई थी। इस दौरान मुंबई के जियो वर्ल्ड सेंटर में इसने मीटिंग के लिए सुविधाओं का जायजा लिया। पूरी तरह संतुष्ट होने के बाद IOC ने सदस्य देशों की बैठक भारत में आयोजित करने का फैसला किया। इसके पहले जुलाई 2020 में टोक्यो में इस बैठक का आयोजन प्रस्तावित है।
भारत में बहुत संभावनाएं
IOC प्रेसीडेंट ने कहा, “भारत को मेंबर्स मीटिंग के लिए इसलिए चुना गया क्योंकि वो दूसरा सबसे ज्यादा आबादी वाला देश है। ये युवाओं का देश है और यहां ओलंपिक खेलों की काफी संभावनाएं हैं। हम नेशनल ओलंपिक कमेटी ऑफ इंडिया के जरिए भारत में खेलों को प्रोत्साहन और मदद देना चाहते हैं।”
मुंबई में होने वाली मीटिंग के फैसले की आधिकारिक घोषणा जुलाई में टोक्यो में IOC बयान के जरिए करेगा।
109 सदस्य आएंगे
IOC मेंबर्स कमेटी में कुल 109 सदस्य हैं। खास बात ये भी है कि 2023 में ही भारत अपनी आजादी की 75वीं सालगिरह मनाएगा। ओलंपिक कमेटी इस मौके के यादगार बनाना चाहती है। उसका मानना है कि भारत में खेलों के विकास की तमाम संभावनाएं मौजूद हैं। भारत ने इस मीटिंग के लिए प्रस्ताव पिछले साल दिया था।
इतना ही नहीं, भारत ने 2032 के ओलंपिक खेलों की मेजबानी का भी दावा प्रस्तुत किया था। हालांकि, मेजबानी मिलना मुश्किल है। इसके कई कारण हैं। हाल के दिनों में एनबीए और यूरोपियन फुटबॉल से जुड़े कुछ स्पोर्ट्स इवेंट्स भारत में आयोजित किए जा चुके हैं।
IOC के मुताबिक भारत दुनिया की छठवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाला देश है। यहां की कुल आबादी में 35 साल से कम युवाओं की संख्या करीब 60 फीसदी है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *