1971 युद्ध का हीरो विंटेज एयरक्राफ्ट ‘डकोटा’ गणतंत्र दिवस परेड में दिखाएगा पराक्रम

नई दिल्ली। बांग्लादेश के मुक्ति संग्राम में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाला भारतीय वायुसेना का विंटेज एयरक्राफ्ट 26 जनवरी को होने वाली गणतंत्र दिवस की परेड में अपना प्रराक्रम दिखाएगा। राजपथ पर होने वाली इस परेड में वायु सेना के फ्लाईपास्ट में डकोटा, 2 एमआई 171 वीं के साथ रुद्र के गठन का हिस्सा होगा।

भारतीय विदेश मंत्रालय से मिली जानकारी के अनुसार डकोटा ने 1971 में पाकिस्तान से जारी बांग्लादेश के मुक्ति संग्राम में अहम भूमिका निभाई थी। इस एयरक्राफ्ट ने युद्ध में पाकिस्तान का ढाका का मोर्चा ढहाने में मदद की थी। वास्तव में बांग्लादेश के वायुसेना की यात्रा डकोटा (भारतीय वायु सेना) की मदद से ही शुरू हो पाई थी।

26 जनवरी की परेड के दौरान जब बांग्लादेश के सैनिक राजपथ पर मार्च कर रहे होंगे उस समय डकोटा, एमआई 171 वी के साथ उड़ान भरेगा। इससे बांग्लादेश के सैनिक अपने मुक्ति संघर्ष के गौरवशाली पल को महसूस कर पाएंगे।

बता दें कि इस गणतंत्र दिवस की परेड में बांग्लादेश की सेना की एक टुकड़ी भी हिस्सा ले रही है, जिसमें 122 सैनिक शामिल हैं। ऐसा तीसरी बार होगा, जब मित्र-देश की सैन्य टुकड़ी राजपथ पर दिखाई देगी। इससे पहले 2016 में फ्रांस और 2017 में यूएई के सैनिक गणतंत्र दिवस की परेड में हिस्सा ले चुके हैं।

खस्ता हालत हो चुके डकोटा को ब्रिटेन में छह महीने की मरम्मत के बाद भारत लाया गया था। जिसे मई 2018 में भारतीय वायुसेना के बेड़े में शामिल किया गया, जो अब गाज़ियाबाद के हिंडन एयरफ़ोर्स स्टेशन पर विंटेज बेड़े का हिस्सा है। डकोटा का नंबर अब वीपी 905 है, जो 1947 के युद्ध में जम्मू-कश्मीर भेजे गए पहले डकोटा का नंबर भी था। इस विमान ने पाकिस्तान से वर्ष 1947 और 1971 में हुए युद्ध में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

  • Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *