JNU में छात्र संगठनों के बीच झड़प के दौरान 12 छात्र घायल

नई दिल्‍ली। जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय JNU में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ABVP के सदस्यों और वाम गठबंधन ऑल इंडिया स्टूडेंट एसोसिएशन (आईसा) एवं स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआई) के बीच झड़प हो गई जिसमें करीब 12 छात्र घायल हो गए और तीन अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए।
छात्रसंघ के सदस्यों ने बताया कि झड़प में गंभीर रूप से घायल लोगों का नई दिल्ली स्थित एम्स में इलाज चल रहा है। घटना से संबंधित औपचारिक शिकायत दिल्ली पुलिस में की गई है। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि घटना रविवार रात करीब 10 बजे विश्वविद्यालय के छात्रसंघ कार्यालय में हुई।
दोनों पक्षों के सदस्य एक-दूसरे पर हिंसा शुरू करने का आरोप लगा रहे हैं। एबीवीपी-जेएनयू के अध्यक्ष शिवम चौरसिया ने कहा कि जब वे छात्रसंघ कार्यालय के छात्र गतिविधि केंद्र में बैठक कर रहे थे तब आईसा और एसएफआई के सदस्यों ने अंदर आकर एबीवीपी के छात्रों को बाहर जाने के लिए कहा।
उन्होंने कहा कि हमसे कहा गया कि इस स्थान का इस्तेमाल सिर्फ छात्रसंघ ही कर सकता है, जो कि गलत है। यह गतिविधि केंद्र सभी छात्रों के लिए खुला है। जब हमने उनकी इस बात का विरोध किया तो उन्होंने हम पर कुर्सियों से हमला करना शुरू कर दिया। दूसरी तरफ जेएनयू छात्र संघ (जेएनयूएसयू) की अध्यक्ष आइशी घोष ने एबीवीपी के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि एबीवीपी ने हिंसा शुरू की थी।
उन्होंने कहा कि वह स्थान पहले से ही एक अन्य संगठन के एक कार्यक्रम के लिए बुक किया गया था। इस बीच एबीवीपी ने वहां पहुंचकर अपनी बैठक शुरू कर दी। मैं और जेएनयूएसयू के अन्य सदस्य उनसे बात करने के लिए मौके पर पहुंचे।
जब हमने एबीवीपी के सदस्यों से अपनी बैठक को किसी अन्य स्थान पर स्थानांतरित करने के लिए कहा तब वे हिंसक हो गए और अंत में हम पर हमला कर दिया। इस दौरान हमारे एक सदस्य को गंभीर चोटें आई हैं। उन्होंने कहा कि झड़प में घायल हुए वाम गठबंधन के छात्रों ने एबीवीपी के खिलाफ एक औपचारिक शिकायत दर्ज करा दी है।
जेएनयू छात्र संघ की अध्यक्ष और स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया की नेता आइशी घोष ने मारपीट को लेकर ट्विटर पर जानकारी दी है। दोनों संगठनों की ओर से एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाए जा रहे हैं। आइशी घोष ने इस घटना के लिए एबीवीपी पर आरोप लगाया है।
एबीवीपी के मुताबिक जेएनयू के स्टूडेंट एक्टिविटी रूम में उनकी बैठक जारी थी। उसी दौरान रविवार रात करीब 9 बजकर 45 मिनट पर लेफ्ट के छात्र वहां पहुंचे और मारपीट करने लगे। खबरों के मुताबिक इस घटना को लेकर दिल्ली के वसंत कुंज पुलिस स्टेशन में एबीवीपी की तरफ से शिकायत दर्ज करवाई गई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
-एजेंसियां

100% LikesVS
0% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *