जयपुर के एसएमएस अस्पताल से 11 करोड़ के N-95 मास्क गायब

जयपुर। जयपुर के एसएमएस मेडीकल कॉलेज से N-95 मास्क की कालाबाजरी का सबसे बड़ा मामला सामने आया है, ज‍िसमें 11 करोड़ के ढाई लाख N-95 मास्क गायब हो गए हैं और हद तो ये है क‍ि ज‍िसके बारे में अस्पताल प्रशासन को खबर ही नहीं हुई। यहां तक क‍ि जिन डॉक्टर्स और रेजीडेंट के लिए मास्क आए थे, उन्हें तो कभी मिले ही नहीं। अस्पताल से गायब हुए मास्क पूरे मेडिकल स्टाफ के लिए मंगाया गए थे। एसएमएस अस्पताल में से करीब ढाई लाख से ज्यादा मास्क गायब हो गए हैं। मास्क कहां गए, इसकी जानकारी ना तो अस्पताल प्रशासन को है और ना ही मेडिकल कॉलेज प्रशासन को। मास्क के गायब होने को लेकर कमेटी भी बनाई गई है।

गायब हुए मास्क एन-95 क्वालिटी के हैं और काफी महंगे आते हैं

मामले में मेडिकल कॉलेज प्रिंसीपल डॉ. सुधीर भंडारी ने कहा कि डॉक्टर्स से जानकारी मांगी गई, सभी काम सही तरीके से होंगे। एसएमएस अस्पताल में डॉक्टर्स, नर्सिंग स्टाफ, आइसोलेशन में काम करने वालों के लिए मास्क की डिमांड की गई थी। पिछले कुछ दिनों में तीन लाख से अधिक मास्क आए, लेकिन अब फिर से डिमांड की जाने लगी। अब सभी डॉक्टर्स और जिम्मेदारों से इस संदर्भ में जानकारी ली जा रही है कि किसने, कितने मास्क और कब कब लिए। जो मास्क गायब हुए हैं, वे एन-95 क्वालिटी के हैं और काफी महंगे आते हैं। अभी एक मास्क की कीमत 450 रुपए तक है। यानी कि यदि ये ढाई लाख मास्क भी इधर-उधर हुए हैं तो इनकी कीमत 11 करोड़ रुपए से अधिक है।

अस्पताल प्रशासन कहता रहा कि स्टाफ और डॉक्टर्स के लिए मास्क की कमी नहीं
ताज्जुब की बात यह कि जिन डॉक्टर्स और रेजीडेंट के लिए मास्क आए थे, उन्हें तो कभी मिले ही नहीं। रेजीडेंट तो खुद के स्तर पर इन्हें मंगा रहे हैं। वहीं अस्पताल प्रशासन कहता रहा कि स्टाफ और डॉक्टर्स के लिए मास्क की कमी नहीं है। अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि जिस 4 एफ वार्ड में कोरोना पॉजिटिव मरीज भर्ती रहा, उसका पता लगने के बाद भी रेजीडेंट, डॉक्टर्स और नर्सिंग स्टाफ को बढिया मास्क नहीं दिए गए। यहां तक कि उनके लिए सेनेटाइजर भी नहीं है।
– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *