उत्तर प्रदेश की 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षाओं का रिजल्‍ट जारी

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद UPMSP ने 10वीं और 12वीं की परीक्षा का रिजल्ट जारी कर दिया है। रिजल्ट की घोषणा शिक्षा मंत्री डॉ. दिनेश शर्मा द्वारा की गई। 10वीं और 12वीं की परीक्षा का रिजल्ट ऑफिशियल वेबसाइट upmsp.edu.in और upresults.nic.in पर जारी किया गया है।

10th and 12th board examinations Results released of Uttar Pradesh
उत्तर प्रदेश की 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षाओं का रिजल्‍ट जारी

10वीं में 83.31 फीसदी और 12वीं में 74.63 फीसदी स्टूडेंट्स पास हुए हैं। हाईस्कूल (10वीं) में बड़ौत-बागपत की रिया जैन ने 96.67 फीसदी मार्क्स के साथ टॉप किया है जबकि इंटरमीडिएट (12वीं) में बड़ौत-बागपत के अनुराग मलिक ने 97% मार्क्स के साथ टॉप किया है। 10वीं और 12वीं के टॉपर एक ही स्कूल से हैं। इस वर्ष 10वीं और 12वीं दोनों का रिजल्ट पिछले साल से अच्छा रहा है।

इस साल परीक्षा के लिए प्रदेश में 7784 परीक्षा केन्द्र बनाए गए थे। इस बार प्रत्येक परीक्षा केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए थे। बोर्ड परीक्षाओं की निगरानी के लिए प्रदेश भर में कुल 19 लाख कैमरे लगाए गए। इसके अलावा 1.88 लाख कक्ष निरीक्षक नियुक्त किए गए थे, जिनको परीक्षा केंद्र पर अपने पहचानपत्र और आधार कार्ड के साथ ड्यूटी करने को कहा गया था। इस बार संवेदनशील परीक्षा केन्द्रों की संख्या 700 तथा अतिसंवेदनशील परीक्षा केन्द्रों की संख्या 275 थी।

उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने रिजल्ट जारी करते हुए बताया कि कोरोना संकट के बावजूद 2 करोड़ 82 लाख उत्तर पुस्तिका को 21 दिनों में चेक किया गया है। वहीं, उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने ऐलान किया है कि यूपी बोर्ड के टॉप-20 छात्रों के घर की सड़क को उनके नाम पर किया जाएगा।

1921 में स्थापित यूपी बोर्ड के इतिहास में ऐसा दूसरी बार हुआ है जब रिजल्ट प्रयागराज की बजाय लखनऊ से जारी किया गया। इससे पहले 2007 में हाईस्कूल का रिजल्ट लखनऊ से जबकि इंटरमीडिएट का रिजल्ट प्रयागराज से जारी किया गया था।

हाईस्कूल में 7% तो इंटरमीडिएट में 13% ज्यादा पास हुई लड़कियां

हाईस्कूल में कुल 30,24,480 छात्र रजिस्टर्ड थे, जिसमें से 27 लाख 72 हजार 265 ने परीक्षा दी थी। इनमें 23 लाख 09 हजार 802 छात्र पास हुए हैं। पास होने वालों में 11,90,888 लड़के और 11,18,914 लड़कियां हैं। 79.88% लड़के और 87.29% लड़कियां पास हुईं।

इंटरमीडिएट में 25,86,339 छात्र दर्ज थे, जिनमें 24 लाख 84 हजार 479 ने परीक्षा दी थी। इसमें 18 लाख 54 हजार 099 (74.63%) छात्र पास हुए। इनमें 95,92,23 लड़के और 89,48,76 लड़कियां हैं। इस तरह 68.88% लड़के और 81.96% लड़कियां पास हुई हैं।

-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *