Sugar mill अगस्त तक करें गन्ना किसानों को 100% भुगतान : सीएम योगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि अगस्त तक शत-प्रतिशत गन्ना मूल्य का बकाया भुगतान Sugar mill मालिक कर दें। इसे लेकर Sugar mill मालिकों को तत्काल निर्देश जारी किया जाए, गन्ना किसानों का बकाया भुगतान मामले में देरी बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमें एक ऐसी निधि बनानी चाहिए, जिससे प्रति कुंतल गन्ना पर सेस लगा सकें। इसमें सरकार भी सहयोग करेगी। सेस से मिलने वाला धन हम गन्ना किसानों के कल्याण और सुविधाओं में खर्च करेंगे। इसी पैसे से गन्ना किसानों के लिए चीनी मिलों के बाहर विश्रामालय, शौचालय, पेयजल समेत अन्य सुविधाएं दे सकेंगे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि गन्ना मूल्य का भुगतान विगत दो वर्षों से अच्छा हुआ है। विगत दो वर्षों में 68,828 करोड़ रुपए का भुगतान हुआ है। इसमें और बेहतर करने की जरुरत है। मुख्यमंत्री ने सख्त निर्देश दिया कि गन्ना किसानों का अभी जो बकाया है उसे अलग-अलग किस्तों में अगस्त तक सारा भुगतान हो जाना चाहिए। जिससे किसानों को कोई परेशानी न हो।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि स्थानीय नौजवानों को गन्ने के जूस के कारोबार से जोड़ना चाहिए। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के जरिए ऋण मुहैया करवा कर नौजवानों को रोजगार के साधन देने का काम भी किया जा सकता है।

sugar mill को शुरू करने के लिए नए टेंडर लगाए गए हैं

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बंद पड़ी चीनी मिल मझोला और रसड़ा सहकारी चीनी मिल को जल्द शुरू किया जाए। विभागीय अधिकारियों ने बताया है कि इन दोनों चीनी मिलों को प्रारंभ करने के लिए टेंडर लगाए गए हैं। उन्होंने कहा है कि गन्ना विकास सड़कों को गड्ढा मुक्त करने की बजाए सड़कों को नए सिरे से बनाए। जिससे कई साल तक सड़क न टूटे। बनाने वाले से कम से कम पांच साल की गारंटी लें।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा है कि आने वाले समय में गन्ना किसानों और सरकार के लिए एथनॉल का उत्पादन फायदेमंद साबित होगा। अभी प्रदेश में 119 चीनी मिलें चल रही हैं। अगले वर्ष तीन चीनी मिलें और चल जाएंगी। जिससे उत्तर प्रदेश में 122 चीनी मिलें हो जाएंगी। मुख्यमंत्री ने बंद पड़ी गडौरा चीनी मिल के लिए रास्ता निकालने के निर्देश दिए हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों को समय से पर्ची मिलनी चाहिए। इस पर ध्यान देना चाहिए। इस बार किसानों को कोई परेशानी न आएं। उन्होंने कहा कि गन्ने का सर्वे बेहतर होना चाहिए। जिससे हम गन्ना किसानों को समय से पर्ची मुहैया करवा सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »