Ramlal Vriddha Ashram में 10 वृद्धजनों ने आश्रय लिया

आगरा। गरीब असहाय की नि:शुल्क सेवा में अग्रणी संस्था Ramlal Vriddha Ashram कैलाश मंदिर के पास सिकंदरा आगरा में पिछले 6 दिन में 10 वृद्धजनों ने आश्रम में आश्रय लिया इन वृद्धजनों का Ramlal Vriddha Ashram संस्था कि काउंसलर नीरज चौहान एवं नंदकिशोर शर्मा जी द्वारा समझौता कराने का प्रयास किया गया परंतु उनका काफी प्रयासों के बाद भी समझौता नहीं हो सका पहले से रह रहे बुजुर्गों में से तीन का समझौता हुआ | बाकी सभी को आश्रम द्वारा सम्मानित कर आश्रय दिया।
मुख्य संरक्षक अशोक जैन सीए जी ने कहा कि जब तक समाज मिलकर इस बढ़ते हुए अत्याचार को रोकने के लिए कोई भी ठोस कदम नहीं उठाएगा तब तक बुजुर्गों पर इसी प्रकार के अत्याचार होते रहेंगे और इसका मुख्य कारण सिर्फ एक ही है कि हमारे संस्था हमारे समाज में ऐसे संस्कार विलुप्त होते जा रहे हैं इसमें कहीं ना कहीं मां बाप से भी अपनी स्थिति के जिम्मेदार हैं क्योंकि क्योंकि आज आज के माता पिता अपने बच्चों को संस्कार न देने के बजाय उनको सिर्फ अच्छी जॉब विदेशों के कल्चर के बारे में अधिक जानकारी देते हैं उनको संस्कारों के बारे में नहीं बताते हैं|
Ramlal Vriddha Ashram के अध्यक्ष शिव प्रसाद शर्मा ने सभी वृद्धजनों की तन मन धन से सेवा करने का संकल्प लिया और उन सभी वृद्ध जनों कि आप बीती सुनकर मन बहुत ही दुखी हुआ एवं बच्चों के समझौता न करने से मना करने पर बुजुर्गों के बच्चों को कोसा

इसी के अंतर्गत दिनांक 8/4/19 को रामलाल वृद्ध आश्रम में 10 बुजुर्ग माता-पिता को नव दुर्गा के अवसर पर आश्रम में बहुत ही स्नेहक के साथ शरण दी गई व साथ ही उनको यह सांत्वना भी दी गई कि आप किसी प्रकार की चिंता न करें इस आश्रम में आपको अपने परिवार की तरह ही रखा जाएगा हम पूरी कोशिश करेंगे कि आपको किसी प्रकार की कोई भी परेशानी ना हो सभी बुजुर्गों ने शहरवासियों को आशीर्वाद दिया| आए हुए बुजुर्गों का विवरण निम्न प्रकार है¦

1- सुरेश चंद्र जैन निवासी 4/446 रुई की मंडी शाहगंज आगरा। कोई संतान नहीं है परिवार में देखरेख करने वाला कोई नहीं है उनके रिश्तेदारों ने भी हाथ खड़े कर लिए वह कोई भी इन की सेवा करने के लिए तैयार नहीं हुआ।

2- चंद्रकांता जैन पत्नी सुरेश चंद्र जैन परिवार में रखने वाला कोई नहीं था इसी कारण आश्रम में आयी।

3- ईश्वरी प्रसाद शर्मा नारायण निवासी नगर न्यू आबादी बोदला। बेटे द्वारा प्रताड़ित कर इनकी सारी जमीन जा जात हड़प कर धक्के मार कर घर से बाहर निकाल दिया और कहा कि कभी वापस लौट कर आए तो मुझसे बुरा कोई नहीं होगा।

4- भूरी गांव निवासी कानपुर रॉगांव कानपुर। परिवार द्वारा प्रताड़ित कर घर से बाहर मारपीट कर निकाल दिया।

5- प्रवीण कुमार कुलश्रेष्ठ निवासी राधा नगर सिकंदरा भतीजा छोड़ गया परिवार में कोई देखरेख करने के लिए तैयार नहीं था।

6- माया भीकम सिंह निवासी समझौता होने के बाद द्वारा प्रताड़ित किया गया और वह वापस रामलाल आश्रम आ गई परिवार वालों ने कहा कि दोबारा लौटकर घर मत आना।

7- गंगाराम शाहगंज निवासी आगरा बेटे द्वारा निकाल दिया गया काम ना होने के कारण कहा कि आप कोई काम नहीं करते इसलिए अब आपकी परिवार को कोई आवश्यकता नहीं है और उन्हें घर से निकाल दिया।

8- नेमीचंद चांदी वाले निवासी फूटी पालीवाल पार्क के पास आगरा बेटों और बहुओं ने उनको मारपीट कर सारी प्रॉपर्टी हड़प कर घर से बाहर निकाल दिया।

9- बलराम सिंह निवास फैजाबाद के निवासी हैं उनको उनकी बेटियों ने ही घर से बाहर निकाल दिया और कहा कि हमें आप की कोई जरूरत नहीं आप तो घर पर बोझ हैं।

10- राम सिंह शर्मा निवासी बरहन आगरा समझौते के बाद परिवार वालों ने द्वारा से उनको घर से बाहर निकाल दिया और कहा कि बार-बार घर क्यों आ जाते हो हम आपको नहीं रखना चाहते एक बार आप को घर वापस लाकर हमसे बहुत बड़ी गलती हो या कभी वापस मत आना

इस अवसर पर आश्रम के मुख्य संरक्षक अशोक जैन सीए शिव प्रसाद शर्मा वरिष्ठ सहयोगी राजकुमार जैन कमल चंद जैन सुशील जैन रविंद्र जैन नंदकिशोर शर्मा विनय शर्मा निखिल सिंह पंकज शर्मा आदि मौजूद रहे

बीजेपी को लोग बोलते है मुस्लिम विरोधी पार्टी कहते हैं लेकिन परेश रावल के अनुसार बीजेपी मुस्लिम विरोधी नहीं है. उन्होने कहा, “पहले लोग मुस्लिम लोगों को पढ़ाई लिखाई से दूर रखते थे क्योंकि अगर वो पढ़े लिखे हो जाएँगे तो उन्हे लगता था की हमारे हाथ से निकल जाएँगे. लेकिन मोदी जी मुस्लिम विरोधी नहीं बल्कि विकास के साथ है. वह पहले ऐसे नेता है जो चाहते है एक हाथ में कुरान में हो और दूसरे हाथ में कम्प्यूटर हो. सब लोग आगे बढ़े ताकी देश का विकास हो.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »