कोटा के बाद Bundi के अस्पताल में भी अब तक 10 बच्चों की मौत

बूंदी। राजस्थान के ज‍िले कोटा से ही सटे Bundi के सरकारी अस्पताल में बच्चों की लगातार मौत हो रही है, अबतक इनकी संख्या 10 हो चुकी है । वहां एक महीने में 10 बच्चों की मौत हो चुकी है।

आंकड़े दबाए था Bundi के सरकारी अस्पताल का प्रशासन

बच्चों की मौत के आंकड़ों को अस्पताल प्रशासन छुपाए बैठा था। बूंदी के सरकारी अस्पताल में बच्चों की मौत का खुलासा तब हुआ जब अतिरिक्त जिला कलेक्टर ने अस्पताल का दौरा किया। शुक्रवार को जब कलेक्टर अस्पताल पहुंचे और रजिस्टर चेक किया तो मौतों की संख्या देखकर वे हैरान हो गए। पता चला कि पिछले एक महीने में 10 बच्चों की मौत हो चुकी है. ये सभी मौतें नियोनटल इंटेंसिव केयर यूनिट (NICU) में हुई है।

किसी का वजन कम, तो कोई संक्रमण का शिकार

इस मामले को लेकर चिकित्सा विभाग का कहना है कि सभी बच्चे ग्रामीण इलाके से यहां आए थे। ड्यूटी इंचार्ज हितेश सोनी ने बताया कि किसी बच्चे का वजन कम था तो किसी के मुंह में गंदा पानी चला गया था, तो किसी के मुंह में हुए संक्रमण के कारण मौत हुई। उन्होंने दावा किया कि अस्पताल प्रशासन की लापरवाही से बच्चों की मौत नहीं हुई है।

कलेक्टर ने दिए निर्देश

अतिरिक्त जिला कलेक्टर ने पूरे मामले की रिपोर्ट मांगी है। साथ ही उन्होंने अस्पताल प्रशासन को निर्देश दिए हैं कि अस्पताल में सफाई व्यवस्था का विशेष ध्यान रखा जाए। साथ ही अस्पताल में किसी प्रकार का कोई संक्रमण नहीं हो इसका ध्यान रखने को कहा है। कलेक्टर ने कहा है कि बच्चों के इलाज में किसी भी हालत में लापरवाही नहीं बरती जाए।

उधर कोटा में बच्चों के दम तोड़ने का सिलसिला जारी है। जे के लोन अस्पताल में मरने वाले बच्चों की संख्या 106 हो गई है। मौत के इतने बड़े आंकड़े के बाद इस अस्पताल पर सरकार की निगाहें अब गई हैं।
– एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *