PIB के चैनल को यूट्यूब ने ब्लॉक किया, यूट्यूब इंडिया से की शिकायत

नई दिल्ली। पत्र सूचना कार्यालय यानि PIB का आधिकारिक यूट्यूब अकाउंट जून 16 से ब्लॉक हो गया है जिसके कारण पीआईबी के सामने मुसीबत खड़ी हो गई है क्योंकि वह इस चैनल के जरिए लाइव टेलिकास्ट के साथ ही प्रेस कॉन्फ्रेंस और दूसरे कार्यक्रमों का ऑनलाइन प्रसारण करता है। इसका उपयोग खासतौर से उस समय किया गया था जब केंद्रीय मंत्रियों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके मोदी सरकार की चार सालों की उपलब्धियों को गिनवाया था।
पत्र सूचना कार्यालय यानि PIB के आधिकारिक यूट्यूब चैनल के पास 1.5 लाख सब्सक्राइबर मौजूद हैं। वह अब तक 3,500 से ज्यादा वीडियो शेयर कर चुका है। साल 2011 में यह चैनल शुरू किया गया था और इसे अब तक 14 मिलियन लोग देख चुके हैं। ऐसा नहीं है कि केवल पीआईबी चैनल पर कोई भी नया वीडियो पोस्ट नहीं कर पा रहा है बल्कि साइट पर पहले से मौजूद वीडियो भी देख नहीं सकते हैं।

PIB में मौजूद सूत्रों का कहना है कि उन्हें तकनीकी खामी का सामना करना पड़ रहा है क्योंकि दर्शक हमारे मौजूदा कंटेंट को देखने में असमर्थ हैं। उनका कहना है कि इस मामले में उन्होंने यूट्यूब इंडिया को बता दिया है और वह इस परेशानी को दूर करने की कोशिश कर रहे हैं। सूत्रों का कहना है कि इसी तरह की परेशानी दुनिया के अन्य हिस्सों में मौजूद कई प्रतिष्ठित संस्थानों को भी झेलनी पड़ रही है।

यदि आप चैनल पर मौजूद किसी वीडियो को प्ले करते हैं तो आपको एक काले रंग की स्क्रिन दिखेगी जिसपर लिखा है कि यह वीडियो भारत में मौजूद नहीं है। स्क्रिन पर लिखा आता है, ‘इस वीडियो में पत्र सूचना कार्यालय का कंटेंट है। यह आपके देश में मौजूद नहीं है।’

यूट्यूब इंडिया के प्रवक्ता ने कहा, ‘हमने अपने पार्टनर के समझौते को अपडेट किया है जिसकी वजह से कुछ ही साइट के कंटेंट हमारे प्लेटफॉर्म पर देखे जा सकेंगे। हालांकि हम इस काम कर रहे हैं, अन्य साइट की वीडियो भी जल्द उपलब्ध हो जाएंगी।’ PIB सूत्रों का कहना है कि उन्हें यूट्यूब इंडिया की तरफ से इस मसले पर कोई जानकारी नहीं मिली है।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »