योगी ने केजरीवाल से कहा: हम दिल्‍ली वालों का ध्‍यान रख रहे हैं, आप यूपी वालों का रखें

लखनऊ। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से बड़ी संख्या में यूपी और अन्य राज्यों के मजदूरों के पलायन करने की खबरों के बीच यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को एक पत्र लिखा है। सोमवार को लिखी इस चिट्ठी में योगी ने केजरीवाल से कहा है कि वह अपने राज्य में लोगों की सुविधा के लिए कई बड़े फैसले ले रहे हैं।
वहीं अन्य राज्यों के लिए हेल्पलाइन की शुरुआत भी हुई है। योगी ने लिखा है कि प्रदेश में दिल्ली के लोगों का पूरा ध्यान रखा जा रहा है और सरकार ये उम्मीद करती है कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार यूपी के लोगों के लिए भी सभी संभव इंतजाम करेगी।
सोमवार को अरविंद केजरीवाल को लिखी चिट्ठी में सीएम योगी ने कहा है कि प्रदेश सरकार ने इस संकट से निपटने और नागरिकों की सुरक्षा के लिए कई निर्णय लिए हैं। प्रदेश सरकार द्वारा हर एक शख्स को रोजमर्रा की जरूरत का सामान घर पर पहुंचाने के लिए भी व्यवस्था की गई है। इसके अलावा देश के अन्य राज्यों में बसे यूपी के लोगों की सहायता के लिए वरिष्ठ अधिकारियों की तैनाती की गई है। यही अधिकारी यूपी में रहने वाले दूसरे राज्यों के लोगों की भी सहायता कर रहे हैं।
यूपी में तैनात दो अफसरों के नंबर भी दिए
सीएम योगी ने केजरीवाल को दिल्ली के लिए तैनात दो अफसरों के फोन नंबर बताते हुए कहा है कि यूपी सरकार से किसी भी तरह की सहायता के लिए इनसे संपर्क हो सकता है। योगी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री को आश्वस्त किया है कि उत्तर प्रदेश में रह रहे दिल्ली से सभी लोगों की हर संभव मदद की जाएगी और उनकी सुविधा और स्वास्थ्य के लिए हर इंतजाम किया जाएगा। सीएम योगी ने यह उम्मीद भी जताई है कि दिल्ली में रहने वाले यूपी के नागरिकों की सुरक्षा, स्वास्थ्य और मूलभूत जरूरतों के लिए दिल्ली सरकार हर संभव बंदोबस्त करेगी।
मजदूरों के पलायन के बीच चिट्ठी
योगी आदित्यनाथ की यह चिट्ठी उस वक्त सामने आई है, जबकि दिल्ली और एनसीआर के तमाम हिस्सों से यूपी में रहने वाले मजदूर पैदल और अन्य वाहनों से लॉकडाउन के बीच अपने घरों को लौट रहे हैं। एक दिन पहले दिल्ली सरकार ने डीटीसी बसों के जरिए यूपी के तमाम मजदूरों को प्रदेश की सीमा पर छोड़ दिया था, जिसके कारण दिल्ली से लगने वाले यूपी के बॉर्डर पर भारी भीड़ इकट्ठा हो गई थी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *