योगी सरकार की योजना, बिजली चोरी की सूचना देने पर मिलेगा मुखबिरों को इनाम

नई दिल्ली। योगी सरकार यूपी को चौबीस घंटे बिजली देने की राह में सबसे बड़ा रोड़ा बिजली चोरी को मानती है। दरअसल, बिजली चोरी को लेकर योगी सरकार बेहद सख्त है, कार्रवाई में न सिफारिश चलेगी न माननीय बचेंगे।

उत्तर प्रदेश पावर कॉर्पोरेशन लिमिटेड (यूपीपीसीएल) ने बिजली बिल बकाएदारों से पैसे निकलवाने के लिए एक नया प्लान तैयार किया है। यूपीपीसीएल की ओर से बिजली चोरी रोकने वाले और चोरी कर रहे लोगों की जानकारी देने वालों को इनाम देकर प्रोत्साहित करेगा। इसके तहत जो वसूली यूपीपीसीएल करेगी, उसका 10 पर्सेंट उस इन्फॉर्मर को दिया जाएगा, जो बिजली चोरी की जानकारी देगा। इसके लिए बिजली विभाग जिले के हर इलाके में इन्फॉर्मर ​नियुक्ति करेगा। जहां उनकी पहचान गुप्त रखी जाएगा। इस प्लान को ‘मुखबिर प्रोत्साहन योजना’ का नाम दिया गया है।

बिजली चोरी रोकने वाले और चोरी से मीटर में गड़बड़ी को रोकने के लिए मुखबिर प्रोत्साहन योजना की शुरूआत की है। इस योजना के अंतर्गत हम हर इलाके में एक-एक इन्फॉर्मर को अपने यह सूचीबद्ध किया गया है। जो हमारे विभाग के विजेलेंस टीम और बिजली विभाग के अधिकारियों के संपर्क में रहेंगे।

Yogi सरकार का ‘मास रेड’ पर ज्यादा फोकस
मास रेड के अंतर्गत बिजली विभाग में तैनात पुलिस कर्मियों के साथ विभाग के अधिकारी अचानक किसी एक मोहल्ले में घुसकर एक-एक घर के मीटर को चेक करेंगे। इस अभियान में तकरीबन 50-60 लोग एक साथ रहेंगे। जिस भी इलाके में ये टीम रेड करेगी। उस इलाके के हर घर में एक साथ चेकिंग करेगी। अगर कटिया, मीटर बाइपास और मीटर में टेम्परिंग पाई गई, तो उस उपभोक्ता के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

Yogi सरकार यूपी को चौबीस घंटे बिजली देने की राह में सबसे बड़ा रोड़ा बिजली चोरी को मानती है। दरअसल, बिजली चोरी को लेकर योगी सरकार बेहद सख्त है, कार्रवाई में न सिफारिश चलेगी न माननीय बचेंगे। 74 थाने शिकंजा कसने के लिए होंगे।

दिसंबर 2018 तक Yogi सरकार यूपी के एक करोड़ 84 लाख घरों में बिजली पहुंचाने और 68 लाख घरों में मीटरिंग का काम पूरा करेगी।

-Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »