योगी ने कहा, कानून से खिलवाड़ करने वालों को चिंता करनी चाहिए

Yogi said, those who pastime with the law should worry
योगी ने कहा, कानून से खिलवाड़ करने वालों को चिंता करनी चाहिए

लखनऊ। एक अंग्रेजी अखबार को दिए इंटरव्यू में यूपी के सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने जोर देकर कहा कि जो लोग कानून का पालन करते हैं उन्हें घबराने की जरूरत नहीं, पर जो कानून से खिलवाड़ करते हैं उन्हें जरूर चिंता करनी चाहिए। साथ ही उन्होंने कहा कि अब वह यूपी में भ्रष्टाचार, कानून से खिलवाड़, जातिवाद और तुष्टीकरण की राजनीति नहीं होने देंगे।
यूपी में ऐंटी रोमियो स्क्वॉड और अवैध बूचड़खानों के खिलाफ कार्यवाही को एक समुदाय के खिलाफ बताए जाने की बात को खारिज करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि वह कानून को लागू करने से किसी हाल में पीछे नहीं हटेंगे।
ऐंटी रोमियो स्क्वॉड के बारे में खुलकर बातचीत करते हुए यूपी से सीएम ने कहा कि इसका मकसद स्कूली छात्राओं को छेड़छाड़ से बचाना है जिसके चलते कई बार उन्हें स्कूल भी छोड़ना पड़ता है। उन्होंने भरोसा दिलाया कि सहमति से कहीं साथ जाने वाले जोड़ों को परेशान नहीं किया जाएगा।
योगी ने कहा, ‘अगर दो लोग पार्क में बैठे हैं या सहमति से कहीं साथ जा रहे हैं तो वे कोई अपराध नहीं कर रहे, पर हमें लड़कियों से छेड़छाड़ की घटनाओं को अनदेखा नहीं करना चाहिए। यह हर समुदाय की लड़कियों के साथ होती है।’
योगी ने इंटरव्यू में शिक्षा व्यवस्था सुधारने के अपने प्लान के बारे में भी बताया। उन्होंने कहा, ‘अभी तक अंग्रेजी की पढ़ाई छठवीं कक्षा से शुरू होती थी, पर अब उसे नर्सरी से ही शुरू करवा दिया जाएगा। मैं मानता हूं कि पढ़ाई में संस्कृति और आधुनिकता का मिश्रण होना चाहिए।’
बूचड़खानों के खिलाफ हो रही कार्यवाही की आलोचना का भी योगी ने जवाब दिया। उन्होंने कहा, ‘अवैध बूचड़खानों के खिलाफ हुई कार्यवाही का विरोध कर रहे लोगों का प्रतिनिधिमंडल जब मुझे मिलना आया तो मैंने उनसे कहा कि सरकार किसी एक समुदाय को निशाना बनाकर कभी कार्यवाही नहीं करेगी। हमारा जोर सिर्फ इस बात पर है कि बीजेपी के घोषणापत्र में किए गए वादों को पूरा किया जाए। हमने कोई नया नियम नहीं बनाया है, सिर्फ नेशनल ग्रीन ट्राइब्यूनल और सुप्रीम कोर्ट के आदेश को लागू किया है। मैंने उनसे कहा कि आप सिर्फ एक ऐसी बात बताइये जो हमने अपनी तरफ से उसमें जोड़ी हो, वे नहीं बता पाए।’
मुख्यमंत्री ने कहा कि नौकरशाहों के ट्रांसफर या उनकी जिम्मेदारी बदलने जैसा कोई कदम वह फिलहाल नहीं उठाने जा रह हैं क्योंकि उनका मानना है कि अफसरों में काम करने की क्षमता है। अफसरों को कड़ा संदेश देते हुए योगी ने कहा कि जिनकी काम करने की नीयत नहीं होगी और जिनका ट्रैक रिकॉर्ड खराब होगा, उन्हें ट्रांसफर करने के बजाय बर्खास्त कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा, ‘मैं नहीं मानता कि ट्रांसफर कर देना कोई समाधान है। इसका कोई मतलब नहीं है। जो काम नहीं करते उन्हें घर भेज दिया जाएगा।’
शराबबंदी को लेकर भी योगी ने अपनी राय जाहिर की। उन्होंने कहा कि फिलहाल उनकी सरकार के पास ऐसा कोई प्लान नहीं है, पर रिहाइशी इलाकों में मौजूद शराब की दुकानों को जरूर हटाया जाएगा। पिछली सरकार द्वारा 2018 तक के लिए आबकारी लाइसेंस जारी किए जाने को गलत बताते हुए सीएम ने संकेत दिया कि उनकी सरकार इस फैसले की समीक्षा कर सकती है।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *