सिविल सेवा परीक्षा की ‘मेरिट’ का कुछ इस तरह सम्मान करेगी योगी सरकार

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की सिविल सेवा परीक्षा में सफल होने वाले उम्मीदवारों को लेकर बड़ा ऐलान किया है।
योगी सरकार ने यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा में सफलता प्राप्त करने वाले राज्य के टॉप-10 आईएएस और आईपीएस युवाओं के घरों तक मजबूत सड़क बनाने का निर्णय लिया है। यह घोषणा राज्य के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने अपने सरकारी आवास पर लोक निर्माण विभाग की उच्चस्तरीय बैठक के दौरान की।
उपमुख्यमंत्री ने कहा है कि जहां सड़कें पहले से बनी हुई हैं, उन्हें सुदृढ़ करने का कार्य किया जाएगा। इससे आवागमन की बेहतर सुविधा उपलब्ध होने के साथ-साथ युवाओं के मेरिट का सम्मान भी होगा। इतना ही नहीं, उन इलाकों के स्टूडेंट्स को सिविल सर्विस परीक्षा में हिस्सा लेने व सफलता प्राप्त करने की प्रेरणा मिलेगी। केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि जहां सड़कों का निर्माण किया जाएगा, वहां संबंधित युवक/युवती के सारे डिटेल्स दशार्ते हुए बड़े बोर्ड लगाए जाएंगे। इससे अन्य छात्र/छात्राओं को प्रेरणा मिल सकेगी।
केशव प्रसाद मौर्य ने इस संबंध में आवंटित बजट का जल्द से जल्द सदुपयोग किए जाने का अधिकारियों को निर्देश दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, लोक निर्माण विभाग ने इस संबंध में कार्य शुरू भी कर दिया है। बता दें कि वर्ष 2019 की आईएएस टॉपर सुलतानपुर की प्रतिभा वर्मा के घर तक लगभग सवा किलोमीटर की सीसी रोड और नाली का निर्माण कराया गया है। इस सड़क का निर्माण राहुल चौराहा, लोहरामऊ मार्ग से बघराजपुर होते हुए बाइपास तक किया गया है। बता दें कि उपमुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि जो भी बजट आवंटित किया गया है, उसका शत-प्रतिशत खर्च किया जाना सुनिश्चित किया जाए। अभियन्ताओं की भी इसमें जवाबदेही तय की जाए।उन्होंने कहा कि 250 की जनसंख्या वाले गांव, जो किसी भी योजना के द्वारा सड़कों से जुड़ गए हैं, वहां सड़कों की देखरेख की जाए और शेष गांवों में सड़कों का निर्माण कराया जाए।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *