पतंजलि Food Park के लिए भूमि हस्तांतरण को योगी कैबिनेट की हरी झंडी

लखनऊ। पतंजलि Food Park के लिए भूमि हस्तांतरण को योगी कैबिनेट की हरी झंडी मिल गई है।  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में आज मंगलवार को लोकभवन में हुई कैबिनेट बैठक में ग्रेटर नोएडा में प्रस्तावित बाबा रामदेव के पतंजलि मेगा Food Park को हरी झंडी देते हुए भूमि हस्तांतरण को मंजूरी दे दी।

गौरतलब है कि यूपी के ग्रेटर नोएडा में प्रस्तावित पतंजलि फूड पार्क को राज्य से बाहर ले जाने की धमकी के बाद यूपी सरकार हरकत में आई थी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मामले में खुद हस्तक्षेप करते हुए मामले को बढ़ने से रोका था और जल्द ही कैबिनेट में पास करवाने का आश्वासन दिया था।

बताया जाता है मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की उक्त मामले में दो बार योगगुरू रामदेव से बात हुई, जिसके बाद मामला शांत हुआ। इसके बाद राज्य सरकार ने भूमि हस्तांतरण और सहमति देने के लिए केंद्र सरकार से 30 जून तक का समय मांगा था।

दरअसल, सरकार ने पतंजलि आयुर्वेद कंपनी को यमुना एक्सप्रेस-वे पर 465 एकड़ जमीन फूड और हर्बल पार्क की स्थापना के लिए दी थी। पतंजलि की ओर से यमुना एक्सप्रेस वे अथारिटी को इस जमीन में से 50 एकड़ जमीन केंद्र की योजना के अनुसार Food Park के लिए ट्रांसफर करने का आग्रह किया था। चूंकि कंपनी को जमीन का आवंटन कैबिनेट से हुआ था, इसलिए उससे किसी हिस्से का अलग हस्तांतरण भी कैबिनेट से ही हो सकता है।

इससे पहले, आचार्य बालकृष्ण ने यह कहकर हड़कंप मचा दिया था कि प्रदेश सरकार की उदासीनता के कारण केंद्र सरकार ने मेगा प्रोजेक्ट रद्द कर दिया है। यह भी कहा कि पतंजलि ने Food Park प्रोजेक्ट को अलग राज्य में ले जाने का फैसला कर लिया है।

अब कैबिनेट की मंजूरी के बाद 6000 करोड़ रुपये की लागत से तैयार होनेवाले इस मेगा Food Park के जरिये दस हजार से अधिक लोगों को रोजगार मिलेगा।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »