योगी आदित्‍यनाथ ने बताया, वो खुद कहां से लड़ेंगे विधानसभा चुनाव

प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किस विधानसभा सीट से उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव 2022 में खम ठोंकेगे, यह बड़ा सवाल है. इस बारे में उनका कहना है कि पार्टी हाईकमान का जहां से आदेश होगा वहीं से चुनावी ताल ठोंक देंगे. उन्होंने कहा, ‘यूपी की हर विधानसभा सीट मेरी है.’
एक प्रतिष्ठित दैनिक अंग्रेजी अखबार को दिए साक्षात्कार में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यूपी विधानसभा चुनाव को लेकर खुलकर बयान दिए. हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया है कि वे किस विधानसभा सीट से चुनाव लड़ने को तैयार हैं.
पत्रकार की ओर से पूछे गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हालिया ‘सपा की लाल टोपी’ संबंधी सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि यह उनका ही नहीं, बल्कि प्रदेश की सभी जनता का मानना है कि सपा का अर्थ है दंगा, अराजकजता, आतंक, आपराधिक आंकड़ों का बढ़ना, घोटाला, वंशवादी राजनीति, युवाओं एवं किसानों के लिए बेरोजगारी और गरीबों के लिए किसी भी लाभदायी योजना का न होना.
उन्होंने एक अन्य सवाल के जवाब में कहा कि राम मनोहर लोहिया हमेशा से वंशवादी राजनीति और बेनामी सम्पत्ति के खिलाफत करते रहे. मगर वर्तमान के समाजवादी वंशवाद की राजनीति को बढ़ावा देने वाले हैं. सीएम योगी आदित्यनाथ ने यह तक कह दिया कि आज राम मनोहर लोहिया की आत्मा इन समाजवादियों की करनी पर रो रही होगी.
इससे इतर साक्षात्कार में सीएम योगी ने कहा कि 31 अक्टूबर को जब पूरा देश राष्ट्रीय एकता दिवस मना रहा था, तब सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने हमारे हीरो सरदार बल्लभ भाई पटेल की तुलना खलनायक जिन्ना से की थी. रही बात अब्बा जान कहने की तो यह कोई असंसदीय शब्द नहीं है.
उन्होंने कहा कि जब प्रदेश की जनता कोरोना के त्रस्त थी तब वे लोग सोशल मीडिया पर नकारात्मकता और भ्रम का प्रचार कर रहे थे. वे जरूरतमंदों के साथ नहीं खड़े थे. लोगों की मदद के लिए किसी भी स्थान पर सपा, कांग्रेस और बसपा नहीं दिखी. वे आगे कहते हैं कि जब वैक्सीनेशन की बात आई तो वे इसी प्रकार उन्होंने भ्रम फैलाया. उनके दुष्प्रचार के कारण कई लोगों ने कोरोना का टीका नहीं लिया. उनमें से कई कोरोना के संक्रमण की चपेट में आए और अपनी जान गंवा बैठे.
एक अन्य सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, ‘मथुरा भगवान कृष्ण का जन्मस्थान है. राधारानी का घर है. हम मथुरा का विकास कर रहे हैं. हमारे लिए वहां कोई विवाद नहीं है. हर तरह के विवादों का अंत यूपी में साल 2017 में भाजपा की सरकार आते ही हो गया था. अंत में उन्होंने कहा कि 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में भाजपा को 325 सीट पर जीत हासिल करेगी.
-एजेंसियां

100% LikesVS
0% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *