योगी आदित्यनाथ ने कहा: भारत देश समाजवाद और साम्यवाद से नहीं, रामराज्य से चलेगा

जौनपुर। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि भारत देश समाजवाद, साम्यवाद से नहीं बल्कि रामराज्य से चलेगा। रामराज्य किसी भी अवधारणा को साकार करने में सक्षम है। उन्होंने विपक्ष पर हमला बोलते हुए कहा कि धर्म, जाति, मजहब व गरीबी हटाने की बात करने वाले इसे अच्छी तरह जान लें।
योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को टीडी कालेज के मैदान में आयोजित शहीद उमानाथ सिंह की 24वीं पुण्य तिथि पर उन्हें श्रद्धाजंलि दी। कहा कि 1994-95 में प्रदेश में अराजकता चरम पर थी। उस वर्ष 13 सितम्बर को जनहित में अराजकता के खिलाफ आवाज उठाते हुए वह शहीद हुए थे। वे खुद नहीं समाज के लिए जिये। ये उनकी वैचारिक प्रतिबद्धता थी।
मुख्यमंत्री ने पूरे भाषण के दौरान स्वच्छता अभियान को फोकस में रखा। कहा कि 2 अक्टूबर 18 से 2 अक्टूबर 20 तक प्रदेश में गांधी जी की 150वीं जयंती पर वृहद पैमाने पर स्वच्छता अभियान चलाया जायेगा। इसे आंदोलन बनाया जायेगा ताकि प्रदेश के साथ देश भी स्वच्छ हो।
उन्होंने कहा कि 2017 में हमारी सरकार ने इन योजनाओं को आगे बढ़ाया। यह स्वस्थ भारत मिशन बनेगा। कहा कि स्वच्छता का परिणाम रहा कि बीआरडी कालेज गोरखपुर में हर साल अगस्त में 400 विषाणु जनित मरीज आते रहे जिसमें 100 मरते रहे लेकिन इस बार कुल 80 मरीज आये और 6 ही काल कवलित हुए।
उन्होंने लोगों का आह्वान किया कि 15 सितम्बर को पूर्वान्ह साढ़े 9 बजे पीएम मोदी के स्वच्छता संदेश के साथ पार्कों, गलियों, चौराहों की सफाई के लिए एक घंटे का समय निकालें।
उन्होंने देश व प्रदेश सरकार की उपलब्धियों को गिनाया। कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री स्व.राजीव गांधी ने कहा था कि एक रुपये भेजता हूं तो पात्र को 10 पैसे मिलते हैं। यह उनकी लाचारी शो कर रही थी। आज पीएम मोदी ने लोगों को हाईटेक बना दिया है। जितना पैसा उनके लिए भेजा जाता है वह सीधे लाभार्थी को मिलता है। आज तमाम योजनाएं गरीबों तक जा रही हैं जो पं. दीनदयाल जी के अंत्योदय की सोच है।
उन्होंने टीडी कालेज की भव्यता का भी जिक्र किया। कहा कि यह जिला पं. दीनदयाल उपाध्याय की कर्मस्थली रही। पंडित जी ने कहा था कि समाजवाद से भला नहीं हो सकता। भला अंत्योदय की परिकल्पना से ही होगा। कार्यक्रम में प्रभारी मंत्री रीता बहुगुणा जोशी, राज्यमंत्री गिरीश यादव समेत जनप्रतिनिधि मौजूद रहे। संचालन डा. डीआर सिंह ने किया।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »