तस्वीरें शेयर कर योगेश्वर दत्त ने कहा, खुद तय करें…क्या ये किसान हैं?

नई दिल्‍ली। गणतंत्र दिवस पर किसान अंदोलन के दौरान हिंसा की तस्वीरों ने पूरे देश को झकाझोर कर रख दिया है। जिस लाल किले की प्राचीर पर देश का झंडा शान से लहराता दिखाई देता था, उस पर गणतंत्र दिवस जैसे खास दिन पर किसानों ने न केवल अपना झंडा लहरा दिया, बल्कि राजधानी में जगह-जगह उत्पात भी देखने को मिला। इस खौफनाक मंजर की कुछ तस्वीरें पहलवान योगेश्वर दत्त ने अपरे ट्विटर अकाउंट पर शेयर की हैं।
ओलिंपिक में मेडल जीतकर देश का मान बढ़ाने वाले इस पहलवान ने उपद्रवियों के किसान होने पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने ट्वीट किया- हाथों में तलवार और राजधानी में अराजकता फैलाना क्या ये किसानों का आंदोलन है? क्या किसान पुलिस के ऊपर ट्रैक्टर चढ़ा सकता है? क्या किसान हिंसा कर सकता है? क्या किसान तिरंगे का अपमान कर सकता है? अब आप को तय करना है ये किसान हैं या देश विरोधी ताकतों का मोहरा।
उल्लेखनीय है कि राजधानी में पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े। भीड़ को काबू करने के दौरान पांच-छह पुलिसकर्मी जख्मी हो गए। वहीं, प्रदर्शनकारियों की तरफ से पुलिसवालों पर ट्रैक्टर चढ़ाने की कोशिश की गई। झड़प के बीच दो मीडियाकर्मी भी घायल हो गए हैं। वहीं कई प्रदर्शनकारियों को चोटें आई हैं।
इससे पहले किसान संगठनों ने नियम-कानून के तहत शांतिपूर्ण ढंग से आंदोलन करने की बात कही थी, लेकिन जो तस्वीरें और वीडियोज सासने आ रहे हैं वो काफी गंभीर हैं। मौके की नजाकत को देखते हुए कई जगह इंटरनेट सेवा को भी बंद किया जा चुका है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *