विश्व युवा शतरंज चैंपियनशिप: प्रागनानंदा ने जीता गोल्ड मेडल

मुंबई। 14 वर्षीय आर. प्रागनानंदा ने विश्व युवा शतरंज चैंपियनशिप में अंडर-18 ओपन वर्ग का गोल्ड मेडल अपनी झोली में डाला। चेन्नै के 14 साल के ग्रैंडमास्टर ने 11वें और अंतिम दौर में जर्मनी के वालेंटिन बकल्स ने ड्रॉ खेला, जिससे वह 9 अंक लेकर शीर्ष पर रहे। भारत ने उनके गोल्ड के अलावा 6 और मेडल हासिल किए, जिसमें 3 सिल्वर और 3 ब्रॉन्ज मेडल शामिल रहे।
चैंपियनशिप भारत के लिहजा से जोरदार रही। भारतीय खिलाड़ियों ने कुल 7 मेडल हासिल किए।
उल्लेखनीय है कि भारत के आर प्रागनानंदा देश के सबसे युवा और विश्व के दूसरे सबसे युवा ग्रैंडमास्टर हैं। प्रागनानंदा 12 साल, 10 महीने और 13 दिन की उम्र में ग्रैंड मास्टर बने थे। उन्होंने इटली में ग्रेनडाइन ओपन के अंतिम दौर में पहुंचकर यह उपलब्धि हासिल की थी।
बता दें कि उक्रेन के सर्गेई कार्जाकिन अब भी सबसे युवा ग्रैंडमास्टर हैं। उन्होंने 2002 में 12 साल, सात महीने में यह उपलब्धि हासिल की थी।
टूर्नामेंट में किसी भारतीय को कौन सा मेडल
अंडर-18 ओपन: आर. प्रागनानंदा (गोल्ड मेडल)
अंडर-18 गर्ल्स: वंतिका अग्रवाल (सिल्वर मेडल)
अंडर-16 ओपन: अरोन्याक घोष (ब्रॉन्ज मेडल)
अंडर-14 ओपन: श्रीहरी एल.आर. (सिल्वर), श्रीश्वान मरालक्षीकरी (ब्रॉन्ज)
अंडर-14 गर्ल्स: दिव्या देशमुख (सिल्वर), रक्षिता रवि (ब्रॉन्ज)
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *